अकाल मौत कोई नहीं मरता, जान लेने से 24 घंटे पहले हर इंसान को ये 4 संकेत देते हैं यमराज ..

जिसका जन्म हुआ है,

उसकी मृत्यु होना भी निश्चित ही है। इस सच को कोई नहीं बदल सकता, लेकिन कब हमारी मृत्यु हो सकती है, इसका पता पहले ही लग जाता है।
माना जाता है कि यमलोक के दूत हर इंसान को उसकी मौत से पहले यमराज के 4 संदेश भेजते हैं, जिनसे यह समझा जा सकता है कि अब उसका अंतिम समय आने वाला है।

एक प्रचलित कथा के अनुसार यमराज ने

अपने एक भक्त अमृत को वचन दिया था कि वे हर किसी के मौत से पहले ही 4 संकेतों से जरिए इसकी सूचना भेजेंगे, ताकि लोगों को पता हो जाए कि उसकी मृत्यु कब होने वाली है और उस बीच में वह अपने सारे अधूरे काम कर सके।

एक समय की बात है, यमुना के किनारे अमृत नाम का व्यक्ति रहा करता था। वह यम देवता की दिन-रात पूजा किया करता क्योंकि उसे अक्सर अपनी मौत का भय सताता रहता था। यमराज, अमृत की तपस्या से प्रभावित हुए और उसके सामने प्रकट होकर वरदान मांगने को कहा।

अमृत ने यमराज से अमरता का वरदान मांगा

जिसे सुनकर यमराज ने उसे समझाया कि जिसने जन्म लिया है, उसे मरना ही है। कोई भी मनुष्य मृत्यु से बच नहीं सकता। यमराज की यह बात सुनकर अमृत ने उनसे कहा कि अगर मौत को टाला नहीं जा सकता, तो कम से कम जब मौत मेरे बिल्कुल करीब हो, तो मुझे पता चल जाए ताकि मैं अपने परिवार के लिए कुछ प्रबंध कर सकूं।

इसके बाद यमराज ने अमृत को मौत की पूर्व सूचना देने का वादा कर दिया। यम ने इसके बदले में अमृत से कहा कि वह भी वादा करे कि जैसे ही उसे मृत्यु का संकेत मिलेगा, वह संसार से विदा लेने की तैयारी करना शुरू कर देगा। यह कहने के बाद यमराज अदृश्य हो गए। ऐसे ही साल बीतते गए और अमृत ने यम के वादे से आश्वस्त होकर सारी साधना छोड़कर विलासितापूर्ण जीवन जीना शुरू कर दिया। मौत की अब उसे ज़रा भी चिंता नहीं होती थी, धीरे-धीरे उसके बाल सफेद होने लगे।

कुछ साल बाद उसके सारे दांत टूट गए,

फिर उसकी आंखों की रोशनी भी कमजोर हो गई। फिर भी अभी तक उसे कोई यमराज का कोई संकेत नहीं मिला। इसी तरह, कुछ साल और बीत और अब वह बिस्तर से उठने में भी असमर्थ हो गया, उसका शरीर बिल्कुल लकवाग्रस्त जैसी स्थिति में पहुंच गया। लेकिन उसने मन ही मन यम को मौत का कोई संकेत न भेजने के लिए धन्यवाद दिया।

एक दिन वह हैरान रह गया, जब उसने अपने पास यमदूतों को देखा। यमदूत उसे यमराज के पास ले गए। तब अमृत ने यमराज से कहा कि आपने तो मृत्यु से पहले मुझे कोई भी संकेत नहीं दिया।

तब यमराज ने विनम्रतापूर्वक उत्तर दिया कि मैंने तो

तुम्हें 4 संदेश भेजे थे, लेकिन तुम्हारी लिप्सा और विलासितापूर्ण जीवन शैली ने तुम्हें अंधा बना दिया था। जब तुम्हारे बाल सफेद हो गए थे वह पहला संकेत था। जब तुम्हारे सारे दांत टूट गए, वह मेरा दूसरा संकेत था। तीसरा संकेत जब तुमने अपनी दृष्टि खो दी और चौथा संदेश था जब तुम्हारे शरीर के सभी अंगों ने काम करना बंद कर दिया। लेकिन तुम इनमें से किसी संकेत को समझ न सके।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top
error: Content is protected !!