Home धर्म कथाएं 17 अप्रैल को शुक्र ग्रह के उदय होने पर किए जा सकेंगे...

17 अप्रैल को शुक्र ग्रह के उदय होने पर किए जा सकेंगे मांगलिक काम, शुक्र ग्रह के उदय होने पर 22 अप्रैल से फिर सुनाई देगी शहनाई की गूंज

वैवाहिक सुख का कारक शुक्र ग्रह (shukra grah ka uday) शनिवार 17 अप्रैल को शाम 7 बजे उदय हो जाएगा। इसके साथ ही मांगलिक और शुभ काम शुरू हो जाएंगे। ये ग्रह 2 महीने पहले मंगलवार 16 फरवरी को मकर राशि में अस्त हो गया था। इस दौरान शुभ और मांगलिक काम बंद थे। लेकिन शनिवार को शाम तकरीबन 7 बजे पश्चिम दिशा में शुक्र ग्रह के उदय होने के साथ शादियां, (shukra grah ka uday) गृह प्रवेश और यज्ञोपवीत जैसे शुभ काम शुरू हो जाएंगे।

budh grah rashi parivartan 2021 mahashivratri 2021 mercury entering aquarius on 11 march mahashivratri know which zodiac sign will be affected in hindi

यहां दबाकर धर्म कथाएं का मोबाइल एप डाउनलोड करें

पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि 22 अप्रैल से शादियों की शुरुआत हो रही है। 14 अप्रैल को खरमास खत्म होने व 17 को शुक्र ग्रह के उदय होने के बाद इस साल शादियों के लिए करीब 50 मुहूर्त रहेंगे। हालांकि कोरोना के चलते शादियों की खुशियां कुछ फीकी रह सकती हैं। विवाह जैसे अनुष्ठानों में शुभ मुहूर्त का विशेष महत्व होता है। ज्योतिष गणनाओं के आधार पर विवाह के लिए शुभ तिथियों का निर्धारण किया जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार एक तरफ जहां कुछ मौकों पर विवाह के लिए कुछ तिथियों और माह बहुत ही शुभ मानी गई हैं, तो वहीं कुछ मौकों पर विवाह कार्यक्रम नहीं हो सकते। हिंदू धार्मिक मान्यता के मुताबिक खरमास, मलमास, शुक्र तारा का अस्त होना और देवशयनी पर मांगलिक नहीं किए जाते हैं। क्योंकि शुभ विवाह के लिए ग्रहों की स्थिति का विशेष ध्यान रखा जाता है।(shukra grah ka uday) विवाह के लिए सभी 9 ग्रहों में गुरु और शुक्र ग्रह की अहम भूमिका रहती है। इन दोनों ग्रहों के अस्त रहने पर विवाह अनुष्ठान रुक जाते हैं और उदय होने पर विवाह आरंभ हो जाते हैं।

anish vyas astrologer
अनीष व्यास, विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक, पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान, जयपुर 9460872809

ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि 22 अप्रैल से शुरू हो रहा शादियों का दौर 15 जुलाई तक रहेगा। मई और जून में इस साल विवाह के लिए ज्यादा मुहूर्त हैं। इसके बाद चातुर्मास लगने से मांगलिक कार्यक्रम बंद हो जाएंगे। अक्षय तृतीया व देवउठनी एकादशी के अबूझ मुहूर्त पर अधिक शादियां होंगी। (shukra grah ka uday) इस साल 20 जुलाई को देवशयनी एकादशी होने से वैवाहिक या मांगलिक काम नहीं हो पाएंगे। 15 नवंबर को देवउठनी एकादशी से फिर से शहनाई गूंज उठेगी।

अप्रैल से जुलाई तक 37 मुहूर्त shukra grah ka uday

विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि अप्रैल से जुलाई तक शादियों के लिए 37 मुहूर्त रहेंगे। पहला 22 अप्रैल को फिर 24 से 30 अप्रैल तक हर दिन विवाह मुहूर्त रहेगा। मई में शादियों के लिए सबसे ज्यादा 15 दिन मिलेंगे। फिर जून में 9 और जुलाई में 5 दिन विवाह मुहूर्त हैं।

नवंबर व दिसंबर में 13 दिन शादी shukra grah ka uday

विख्यात भविष्यवक्ता अनीष व्यास ने बताया कि जुलाई में देवशयन होने के बाद 15 नवंबर को देवउठनी एकादशी पर विवाह मुहूर्त के साथ शादियों का दौर फिर शुरू हो जाएगा। इस महीने 15 में से सात दिन विवाह के मुहूर्त रहेंगे। वर्ष के आखिरी माह दिसंबर में 15 तारीख के पहले तक शादियों के लिए सिर्फ 6 ही दिन मिलेंगे।

शुभ प्रभाव shukra grah ka uday

विख्यात कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि शुक्र ग्रह के अपनी ही राशि वृष में उदय होने से इसके शुभ फल मिलने लगेंगे। ये ग्रह वैवाहिक जीवन, सुख और भोग विलास का कारक है। इसके उदय होने के प्रभाव से दांपत्य सुख बढ़ेगा। कुछ लोगों की सेहत संबंधी परेशानी भी दूर हो जाएगी।

2021 के मांगलिक कार्यों में बाधा shukra grah ka uday

मलमास- 14 जनवरी तक

गुरु तारा अस्त- 17 जनवरी से 13 फरवरी तक

शुक्र तारा अस्त- 14 फरवरी से 18 अप्रैल तक

खरमास – 14 मार्च से 13 अप्रैल तक

होलाष्टक- 22 मार्च से 28 मार्च तक

देवशयनी एकादशी 20 जुलाई से देवउठनी एकादशी 15 नवंबर तक

गुरु तारा अस्त और उदय shukra grah ka uday

17 जनवरी 2021 से गुरु तारा अस्त है। गुरु तारा का विवाह योग के लिए उदय होना जरूरी माना जाता है। माघ शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि यानी 13 फरवरी 2021 को उदय हो गए हैं।

शुक्र तारा अस्त और उदय shukra grah ka uday

शुक्र तारा का उदय भी सभी प्रकार के मांगलिक कार्यों के महत्वपूर्ण माना जाता है। हिन्दू पंचांग के अनुसार शुक्र तारा माघ शुक्ल तृतीया यानी 14 फरवरी 2021 से अस्त हैं, जो चैत्र शुक्ल पक्ष की षष्ठी यानी 18 अप्रैल 2021 को उदय होंगे।

अप्रैल से दिसंबर 2021 तक विवाह मुहूर्त shukra grah ka uday

अप्रैल – 22, 24, 25, 26, 27, 28, 29, और 30

मई – 1, 2, 7, 8, 9, 13, 14, 21, 22, 23, 24, 25, 26, 28, 29 और 30

जून – 3, 4, 5, 16, 20, 22, 23, और 24

जुलाई – 1, 2, 7, 13 और 15

नवंबर – 15, 16, 20, 21, 28, 29 और 30

दिसंबर – 1, 2, 6, 7, 11 और 13

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments