जय श्री गणेश जी : आज बुधवार का पंचांग सूर्यसिद्धान्तीय दिनांक 12 सितम्बर 2018 सूर्य पंचांग

जय श्रीराधेकृष्ण
-सूर्यसिद्धान्तीय
-(सूर्य पंचांग रायपुरॅ)
-दिनांक 12 सितम्बर 2018
-दिन बुधवार
-सूर्योदय 05:35:51
-सूर्यास्त 05:49:52
-दक्षिणायन
-संवत् 2075
-शक् 1940
-ॠतु निरयन- वर्षा
-ऋतु सायन- शरद
-भाद्रपद मास
-शुक्ल पक्ष
-तृतिया तिथि 18:25:34 परं चतुर्थी तिथि
-चित्रा नक्षत्र 28:32:25 परं
-स्वाती नक्षत्र

डाॅ गीता शर्मा, ज्योतिष मनीषी, कांकेर छत्तीसगढ।
(7974032722)

-शुक्ल योग 08:34:49 परं
-ब्रह्म योग
-प्रथम तैतिल करण 03:33
-द्वितिय गर करण 32:04
-राहुकाल-12:01 / 13:31अशुभ
-अभिजीत 11:50 / 12 :41 ❎अशुभ
-सूर्य- सिंह राशि
-चन्द्र- कन्या राशि 16:40:44 परं तुला राशि
-हरितालिका तीज व्रतं 3
-तीजा व्रतं3
-स्त्रीणां नित्यं काम्यश्च
-वृहद् गौरी व्रतं 3 (उड़ीसा)
-वराहावतारः 3
-रवियोगः 28:32
– मन्वादि 3
-चित्रा में – जातकर्म नामकरण अन्नप्राशन नववस्त्ररत्नादिधारण शिल्प भैषज्य वाणिज्यारंभः वस्तुक्रयविक्रय मुहूर्त।
-भाद्रपदमास
-दधिभाद्रपदे त्यजेत्
– वाराहावतारः
-मोहरम (मु 1)
-हिजरी सन् 1440

अभिलाषा

“न त्वहं कामये राज्यं न स्वर्ग नापुनर्भवम्।
कामये दुःतप्तानां प्राणिनामार्तिनाशनम्।।”

अर्थात्-
“मुझे फिर से राज्य प्राप्त हो जाये, यह मैं नहीं चाहता।देह छूटने पर स्वर्ग जाऊँ अथवा जन्म मरण से छूट जाऊँ,
यह भी हमारी कामना नहीं है।
मैं दुःख से संतप्त प्राणियों का कष्ट दूर हो ,केवल यही चाहता हूं ।”

निज चिन्तन

“दृष्टि” नहीं—-,
वरन् “दृष्टिकोण” “सकारात्मक” होना चाहिये—–,

“माया” को “चाहने” वाला “बिखर” जाता है —–,
“श्याम” को चाहने वाला निखर जाता है—–!!

(चलते रहिये)

श्रीकृष्णं शरणं ममः

डाॅ गीता शर्मा , ज्योतिष मनीषी,
माँ गायत्री ज्योतिष  अनुसंधान केन्द्र, कांकेर,छत्तीसगढ
(7974032722)

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top
error: Content is protected !!