वसंत प्रकृति का श्रृंगार और शिक्षा जीवन का श्रृंगार है

सरस्वती जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में संस्था मालवमंथन ने अपने प्रकल्प आरोग्य संपदा का रोपण एवं वसंत पंचमी बहुत ही अनूठे तरह से मनाई कल्याणी शिक्षा एवं सामाजिक संस्था के सहयोग से ग्राम केलोद हाला के सैटेलाइट जंक्शन के धनवंतरी उद्यान में आयोजित कार्यक्रम में रहवासियों के द्वारा सरस्वती पूजन के साथ कार्यक्रम की शुरुवात की गई साथ ही जो बच्चों के स्कूल की शुरुवात नही हुई है। उनका शिक्षा प्रारंभ किया एवं बच्चों को शिक्षण सामग्री वितरित की साथ ही सभी ने औषधीय पौधों का रोपण किया कार्यक्रम को संबोधीत करते हुए स्वप्निल व्यास ने कहा वसंत ऋतु राज है।वह प्रकृति का शृंगार है..वैसे ही विद्या जीवन का
और इसी कारण हमने आज के दिन वृक्षारोपण कर प्रकृति और बच्चों का शिक्षण प्रारंभ कर के माँ शारदा की सच्ची आराधना की है। कार्यक्रम संचालन श्रीमती रचना छापेकर ने किया एवं आभार रहवासी संघ ने माना। संपर्क 9826037936

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top
error: Content is protected !!