संतों के आशीर्वाद से जीवन में आते है शुभ प्रसंग : ग्राम सांकरा में गुुरु घासीदास जी की 261वीं जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री हुए शामिल

guru ghasidas jayanti program

राजनांदगांव. संतों के आशीर्वाद से जीवन में शुभ प्रसंग आते हैं। गिरौदपुरी से जुड़ा ऐसा ही प्रसंग मुझे याद आता है। जब श्री रामनाथ कोविंद राज्यपाल थे, तब गिरौदपुरी आए थे। इसके कुछ दिनों बाद राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया शुरू हुई और वे राष्ट्रपति चुन लिए गए। यह बात मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने ग्राम सांकरा में गुरु घासीदास जी की 261वीं जयंती पर आयोजित कार्यक्रम के अवसर पर कही। उन्होंने कहा कि हमारा सौभाग्य है कि ऐतिहासिक गिरौदपुरी धाम को सहेजने में अपनी भूमिका निभा सके। आज कुतुबमीनार से ऊँचा जैतखंभ गिरौदपुरी में खड़ा है। गुरु घासीदास ने अपना सूत्र वाक्य हमें दिया है। मनखे-मनखे एक समान, यह समानता का महान संदेश है। यह एक बराबरी वाले समाज का संदेश है जहाँ सभी साझा कर सकें, कोई छोटा-बड़ा न हो। उन्होंने कहा कि संतों का संदेश किसी एक संप्रदाय तक सीमित नहीं होता, यह संदेश सभी के लिए उतना ही लाभप्रद होता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरु घासीदास ने óी-पुरुष की समानता का संदेश भी दिया। उनके संदेश वर्तमान समय के लिए बेहद प्रासंगिक हैं। उनकी करुणा का दायरा व्यापक था, उन्होंने केवल मनुष्यों के लिए नहीं सोचा, पशु-पक्षियों के प्रति भी करूणा का संदेश उन्होंने दिया।



मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि राज्य शासन की स्काई योजना के माध्यम से 45 लाख हितग्राहियों को स्मार्ट फोन वितरित किया जाएगा। इसमें सभी शासकीय योजनाओं के आवेदन ग्रामीण डाउनलोड कर पाएंगे तथा इसे आनलाइन प्रेषित भी कर पाएंगे। इस तरह स्काई योजना के माध्यम से सूचना प्रौद्योगिकी से लोगों के जीवन में बड़ा बदलाव लाने की पहल करना वाला छŸाीसगढ़ पहला राज्य है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर ग्राम सांकरा में मंदिर के जीर्णाेद्धार के लिए तथा वृहत परिसर निर्माण के लिए दस लाख रुपए उपलब्ध कराने की घोषणा भी की। उन्होंने प्राइमरी और मिडिल स्कूल तथा पंचायत भवन के जीर्णाेद्धार की घोषणा भी की। साथ ही पांच लाख रुपए की लागत से सीसी रोड के निर्माण की घोषणा भी की। ग्रामीणों की माँग पर बंधिया तालाब के सौंदर्यीकरण की घोषणा भी की। इसके अलावा राम मंदिर के पास मंच निर्माण की घोषणा भी उन्होंने की।



इस मौके पर सांसद श्री अभिषेक सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री से लगातार ग्रामीण क्षेत्रों के लोग विकास कार्यों के संबंध में आवेदन देते हैं। सांकरा के विकास के लिए भी 15 लाख रुपए स्वीकृत किए गए हैं। गाँव के विकास के लिए निरंतर ऐसे कार्य किए जाएंगे। इस अवसर पर सांसद ने मुख्यमंत्री के समक्ष ग्रामीणजनों द्वारा चाहे गए विकास कार्यों को भी प्रस्तुत किया। अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष श्री रामजी भारती ने कहा कि 2003 तक गिरौदपुरी तक पहुँचने के लिए अच्छी सड़क भी नहीं थी, आज वहां कुतुबमीनार से ऊँचा विशाल जैतखंभ स्थापित है। डोंगरगढ़ विधायक श्रीमती सरोजनी बंजारे ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने गिरौदपुरी में ऐतिहासिक धरोहर को सहेजने का बड़ा काम किया है।



इस मौके पर महौपार श्री मधुसूदन यादव, समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष श्रीमती शोभा सोनी, राज्य ऊर्दू अकादमी के अध्यक्ष श्री अकरम कुरैशी, राजगामी संपदा न्यास के अध्यक्ष श्री रमेश पटेल, राजगामी संपदा न्यास के पूर्व अध्यक्ष श्री संतोष अग्रवाल, पूर्व मंडी उपाध्यक्ष श्री कोमल सिंह राजपूत, जनपद अध्यक्ष राजनांदगांव श्रीमती सरिता कन्नौजे पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्री भरत वर्मा, पूर्व मंडी उपाध्यक्ष श्री कोमल सिंह राजपूत, राजेश श्यामकर एवं अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। इस दौरान कलेक्टर श्री भीम सिंह एवं पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत अग्रवाल एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top
error: Content is protected !!