Home पर्व और त्योहार वैशाख माह में पुण्य कमाने के लिए करें सरल उपाय

वैशाख माह में पुण्य कमाने के लिए करें सरल उपाय

हिंदू पंचाग का दूसरा महीना वैशाख (Vaishakh Month 2021) होता है. वैशाख को भगवान विष्णु का महीना माना गया है. 26 मई तक वैशाख का महीना जारी रहेगा. आदि ग्रंथों में इस महीने की बड़ी महिमा बताई गई है. स्वयं नारद जी ने कहा है कि भगवान ब्रम्हा ने वैशाख माह को सभी महीनों से श्रेष्ठ फलदायी बताया है. ऐसा कहा गया है कि वैशाख माह में पुण्य कार्य करने से व्यक्ति को उसके पापों से मुक्ति मिलती है. इस महीने में पवित्र नदियों में स्नान करने के भी विशेष महत्व होता है. साथ ही इस माह में दान करने से व्यक्ति को उसका सौ गुना फल प्राप्त होता है. आज हम आपको वैशाख माह से जुड़े कुछ सरल उपाय बताने जा रहे हैं जिन्हें कर के आप वैशाख माह में पुण्य फल की प्राप्ति कर सकते हैं.

यहां दबाकर धर्म कथाएं का मोबाइल एप डाउनलोड करें

पानी पिलाना (Vaishakh Month 2021)

वैशाख माह में गर्मी चरम पर होती है और लोग अक्सर पानी के लिए परेशान होते दिखाई देते हैं. इस महीने में जल दान करने का बड़ा महत्व बताया गया है, किसी प्यासे को पानी पिलाने से बड़ा पुण्य का काम दूसरा नहीं है. जो व्यक्ति वैशाख माह में प्यासे लोगों को पानी पिलाता है उसे सभी तीर्थों में यात्रा करने के बराबर पुण्य फल की प्राप्ति होती है. प्यासे राहगीरों, महिलाओं को पानी पिलाने से व्यक्ति को त्रिदेवों की कृपा प्राप्त होती है. जो व्यक्ति निस्वार्थ भाव से वैशाख के महीने में लोगों की सेवा करता है उन्हें शीतल जल पिलाता है उन्हें दस हजार राजसूय यज्ञ करने के बराबर फल प्राप्त होता है.

प्याऊ की व्यवस्था (Vaishakh Month 2021)

वैशाख के महीने में आप किसी सड़क के किनारे कुछ मटके खरीदकर प्याऊ की व्यवस्था भी करा सकते हैं, गर्मी के दिनों में इंसान से लेकर पशु तक सड़कों पर पानी के लिए भटकता रहता है ऐसे में आप राहगीरों के साथ ही गौ माता और अन्य मवेशियों के लिए भी पीने के पानी की व्यवस्था करा के पुण्य फल की प्राप्ति कर सकते हैं. जो मनुष्य वैशाख के महीने में राहगीरों व मवेशियों के लिए पानी की व्यवस्था करता है उस पर भगवान की कृपा हमेशा बनी रहती है.

पंखें का दान (Vaishakh Month 2021)

भीषण गर्मी में थके हुए रहागीर या किसी ब्राह्मण की सेवा करने से व्यक्ति को पुण्य फल की प्राप्ति होती है. कहते हैं धूप से थके हुए किसी ब्राह्मण को यदि पंखे से हवा कर उनकी सेवा की जाए तो वैशाख माह में किए गए इस छोटे से काम से भी भगवान की कृपा प्राप्त हो जाती है. किसी राहगीर को पंखा कर यदि कोई व्यक्ति उसकी सेवा करता है तो उसे पुण्य फल की प्राप्ति होती है. वैशाख माह में की गई थोड़ी सी सेवा व्यक्ति को परम पद की प्राप्ति करने में सहायक होती है. व्यक्ति धरती पर सभी सुखों को भोग कर वैकुंठ धाम में सुख प्राप्त करता है वैशाख माह की महिमा ऐसी है कि इस माह में लोगों की कि गई थोड़ी सेवा भी व्यक्ति को बड़े पुण्य प्रदान करती है.

अन्न दान (Vaishakh Month 2021)

अन्न दान को सभी दानों में श्रेष्ठ बताया गया है. कहते हैं जो मनुष्य अन्न दान करता है उसे प्रभु कृपा के साथ ही श्रेष्ठ फल की प्राप्ति होती है. यदि द्वार पर कोई भूखा ब्रह्मण या भूखा जीव आए तो उसे भोजन करा कर ही विदा करें. भूखे व्यक्ति की सेवा करने से हरि कृपा प्राप्त होती है. इसलिए हिंदु धर्म में अन्न दान को सभी दानों से श्रेष्ठ बताया गया है.

पादुका एवं चटाई (Vaishakh Month 2021)

जूते चप्पल के दान को भी हिंदु धर्म में पुण्य फलदायी बताया गया है, कहते हैं कि वैशाख माह में किसी जरूरतमंद व्यक्ति को जो भी व्यक्ति चरण पादुका या जूते चप्पल का दान करता है उसे पुण्य फल की प्राप्ति होती है. मृत्यु के बाद ऐसा व्यक्ति स्वर्ग लोक का भागी बनता है, उसके दुखों का नाश हो जाता है और वो सभी प्रकार के सुख को प्राप्त करता है. वैशाख के माह में चटाई के दान को भी पुण्यफल देने वाला बताया गया है कहते हैं कि जो व्यक्ति इस माह में खजूर के पत्तों से बनी चटाई को दान करता है उसे श्रेष्ठ फलों की प्राप्ति होती है और उसके सभी पाप कट जाते हैं. उसके सारे दुखों का नाश हो जाता है और वह परलोक में उत्तम गति को पाता है. वर्तमान दौर में कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण लोग कई तरह की मुश्किलों का सामना कर रहे हैं ऐसे में आप किसी भी जरूरतमंद व्यक्ति की यथा संभव मदद कर ईश्वर की कृपा के पात्र बन सकते हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments