Home समाचार कोरोना की दूसरी लहर - एक ज्योतिषीय विश्लेषण, ज्योर्तिविद कालज्ञ पं. संजय...

कोरोना की दूसरी लहर – एक ज्योतिषीय विश्लेषण, ज्योर्तिविद कालज्ञ पं. संजय शर्मा से समझें पूरा गणित

ज्योर्तिविद कालज्ञ पं. संजय शर्मा 9893129882 , 9424828545 (Paytm , PhonePe, Gpay) ज्योतिष लेखक, ज्योतिष एवं वास्तु परामर्ष , रत्न विशेषज्ञ , प्रेरक (मोटीवेटर)
कलर थेरेपिस्ट एवं औरा रीडर 11, न्यू एम.आई.जी. मुखर्जी नगर एम.आर. 8, टेलीफोन ऑफिस के सामने देवास म.प्र. 455001

वर्तमान समय सारा भारत एक ही समस्या से पीडित है वह भी अत्यंत गंभीर इस समस्या की विभीषिका केवल इसी बात से समझ सकते है कि इस समय समस्त जीवन रक्षक उपकरण एवं औषधि एवं विशेष रूप से प्राणवायू का एकदम से अभाव होना । अधिकतर देशवासी इस समय अवसाद की स्थिति में है भय का वातावरण है लोग इस वायरस के शरीर में प्रवेश को ही मृत्यु का द्वार समझने लगे है । परन्तु वास्तविक स्थिति ऐसी नही है अधिकतर लोग स्वस्थ हो रहे है एवं इस वायरस से जीवन की रक्षा करने के लिये टीका भी उपलब्ध है । टीकाकरण सभीदूर हो रहा है इस संजीवनी का लाभ जल्दी से उठाकर स्वयं एवं अपने परिवार , समाज, शहर, प्रदेश , देश , विश्व की रक्षा करने में भगीदार बनिये।

इस समय भारत देश में हाहाकार मचाने वाले वायरस को भारत देश की पत्रिका से विवेचन करने की कोशिश करते है । भारत का पुर्ननिमार्ण 15 अगस्त 1947 को रात्रि बारह बजे हुआ उस गणित से भारत का वृषभ लग्न एवं कर्क राशि है । वृषभ लग्न में कर्क राशि तीसरे स्थान पर होती है एवं यह स्थान अष्टम से अष्टम होने के कारण परम मारक होता है । इस समय चंदमा में शनि का अंतर है और भारत देश की पत्रिका में शनि चंद्रमा की युति है जो विष योग का निर्माण करती है एवं इस समय चंद्रमा की महादशा में शनि का अंतर चल रहा है । दशा यह दशा दिसंबर 2019 से लगी है और यह जुलाई 2021 तक चलेगी । इसी वर्ष जनवरी के अंत से अप्रेल के अंत तक राहू का प्रत्यंतर भी रहा जो अत्यंत विनाशकारी रहा अब 24 अप्रेल से समय में परिवर्तन हुआ है जो इस कष्टकारी समय से मुक्ति दिलाने की शुरूवात करेगा ।

यह विषयोग के समय का अंतिम चरण है अतः संयम व धैर्य से काम लेकर घर पर रहिये टीकाकरण करवाईये जुलाई के द्वितीय सप्ताह तक इस महामारी पर इस देश में काबू पा लिया जावेगा इस समय अन्य टीके और भी आयेंगे जो इस संकट की घड़ी से पार पाने में उपयोगी सिद्ध होंगे । मई में धीरे धीरे इस प्रकोप से चैन मिलना प्रारंभ होगा एवं जुलाई के दूसरे सप्ताह तक यह नियंत्रण में होगी । समय विपरीत अवश्य है पर चंदमा की उपासना एवं शनि की उपासना से इस समय पर विजय प्राप्त करने में मदद मिलेगी। अतः जब तक यह नियंत्रित न हो तब तक मास्क लगाईये , सेनिटाईजर का उपयोग कीजिये , दो गज दूरी बनाये रखिये , टीकाकरण करवाईये , घर पर रहिये और स्वस्थ रहिये ।

ज्योर्तिविद कालज्ञ पं. संजय शर्मा 9893129882 , 9424828545 (Paytm , PhonePe, Gpay) ज्योतिष लेखक, ज्योतिष एवं वास्तु परामर्ष , रत्न विशेषज्ञ , प्रेरक (मोटीवेटर)
कलर थेरेपिस्ट एवं औरा रीडर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments