Home धर्म कथाएं अकाल मौत कोई नहीं मरता, जान लेने से 24 घंटे पहले हर...

अकाल मौत कोई नहीं मरता, जान लेने से 24 घंटे पहले हर इंसान को ये 4 संकेत देते हैं यमराज…

जीवन का सबसे बड़ा सत्य मृत्यु है। जिसने इस मृत्यु लोक में जन्म लिया है उसे एक ना एक दिन तो मरना ही होगा। दुनिया के हर इंसान के मन में कभी न कभी यह प्रश्न अवश्य उठता है कि आखिर जीवन और मृत्यु का रहस्य क्या है ,जब भी मन में मृत्यु का ख्याल आता है या किसी शवयात्रा को गुजरते हुए देखते हैं तो रोमांचित हो जाते हैं। (Before Death Signs) आखिर यह मृत्यु क्या है। मृत्यु के विषय में दुनियाभर में अलग-अलग तरह की बातें और मान्यताएं प्रचलित हैं। इस तरह कि मान्यताओं और धारणाओं में से अधिकांश काल्पनिक होती हैं लेकिन कुछ सच भी होती हैं। आज हम आपको मौत से जुड़े ऐेसे संकेत बताने जा रहे हैं जो मृत्यु से पहले हर इंसान के यमराज देते हैं। जानिए क्या हैं मौत के लक्षण- (Before Death Signs)

यहां दबाकर धर्म कथाएं का मोबाइल एप डाउनलोड करें

जिसका जन्म हुआ है, Before Death Signs

उसकी मृत्यु होना भी निश्चित ही है। इस सच को कोई नहीं बदल सकता, लेकिन कब हमारी मृत्यु हो सकती है, इसका पता पहले ही लग जाता है। माना जाता है कि यमलोक के दूत हर इंसान को उसकी मौत से पहले यमराज के 4 संदेश भेजते हैं, जिनसे यह समझा जा सकता है कि अब उसका अंतिम समय आने वाला है। (Before Death Signs)

Know the secrets of your past life through these verses in hindi,Previous Birth,

एक प्रचलित कथा के अनुसार यमराज ने Before Death Signs

अपने एक भक्त अमृत को वचन दिया था कि वे हर किसी के मौत से पहले ही 4 संकेतों से जरिए इसकी सूचना भेजेंगे, ताकि लोगों को पता हो जाए कि उसकी मृत्यु कब होने वाली है और उस बीच में वह अपने सारे अधूरे काम कर सके।

एक समय की बात है, यमुना के किनारे अमृत नाम का व्यक्ति रहा करता था। वह यम देवता की दिन-रात पूजा किया करता क्योंकि उसे अक्सर अपनी मौत का भय सताता रहता था। यमराज, अमृत की तपस्या से प्रभावित हुए और उसके सामने प्रकट होकर वरदान मांगने को कहा।

अमृत ने यमराज से अमरता का वरदान मांगा Before Death Signs

जिसे सुनकर यमराज ने उसे समझाया कि जिसने जन्म लिया है, उसे मरना ही है। कोई भी मनुष्य मृत्यु से बच नहीं सकता। यमराज की यह बात सुनकर अमृत ने उनसे कहा कि अगर मौत को टाला नहीं जा सकता, तो कम से कम जब मौत मेरे बिल्कुल करीब हो, तो मुझे पता चल जाए ताकि मैं अपने परिवार के लिए कुछ प्रबंध कर सकूं।

इसके बाद यमराज ने अमृत को मौत की पूर्व सूचना देने का वादा कर दिया। यम ने इसके बदले में अमृत से कहा कि वह भी वादा करे कि जैसे ही उसे मृत्यु का संकेत मिलेगा, वह संसार से विदा लेने की तैयारी करना शुरू कर देगा। यह कहने के बाद यमराज अदृश्य हो गए। ऐसे ही साल बीतते गए और अमृत ने यम के वादे से आश्वस्त होकर सारी साधना छोड़कर विलासितापूर्ण जीवन जीना शुरू कर दिया। मौत की अब उसे ज़रा भी चिंता नहीं होती थी, धीरे-धीरे उसके बाल सफेद होने लगे।

कुछ साल बाद उसके सारे दांत टूट गए, Before Death Signs

फिर उसकी आंखों की रोशनी भी कमजोर हो गई। फिर भी अभी तक उसे कोई यमराज का कोई संकेत नहीं मिला। इसी तरह, कुछ साल और बीत और अब वह बिस्तर से उठने में भी असमर्थ हो गया, उसका शरीर बिल्कुल लकवाग्रस्त जैसी स्थिति में पहुंच गया। लेकिन उसने मन ही मन यम को मौत का कोई संकेत न भेजने के लिए धन्यवाद दिया। एक दिन वह हैरान रह गया, जब उसने अपने पास यमदूतों को देखा। यमदूत उसे यमराज के पास ले गए। तब अमृत ने यमराज से कहा कि आपने तो मृत्यु से पहले मुझे कोई भी संकेत नहीं दिया।

तब यमराज ने विनम्रतापूर्वक उत्तर दिया कि मैंने तो

तुम्हें 4 संदेश भेजे थे, लेकिन तुम्हारी लिप्सा और विलासितापूर्ण जीवन शैली ने तुम्हें अंधा बना दिया था। जब तुम्हारे बाल सफेद हो गए थे वह पहला संकेत था। जब तुम्हारे सारे दांत टूट गए, वह मेरा दूसरा संकेत था। तीसरा संकेत जब तुमने अपनी दृष्टि खो दी और चौथा संदेश था जब तुम्हारे शरीर के सभी अंगों ने काम करना बंद कर दिया। लेकिन तुम इनमें से किसी संकेत को समझ न सके।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments