Home समाचार भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ज्योतिष रत्न पुरस्कार से सम्मानित

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ज्योतिष रत्न पुरस्कार से सम्मानित

नई दिल्ली में रविवार 11 अप्रैल को आयोजित एक दिवसीय ज्योतिष सेमीनर और सम्मान समारोह में पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर के निदेशक विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास को अब तक सबसे अधिक सटीक भविष्यवाणी के लिए और ज्योतिष एवं वास्तुशास्त्र के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर ज्योतिष रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया।
आचार्य प्रवीण सोनी की ओर से नई दिल्ली स्थित होटल रेडिशन ब्लू द्वारका में एक दिवसीय ज्योतिष सेमीनार और सम्मान समारोह में पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर के निदेशक विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास को अब तक सबसे अधिक सटीक भविष्यवाणी के लिए और ज्योतिष एवम् वास्तुशास्त्र के क्षेत्र में उल्लेखनीय एवं उत्कृष्ट कार्य करने के लिए प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य डॉक्टर एच एस रावत, दैवेज्ञ अनिल वत्स और ज्योतिष सम्राट डॉक्टर राजेश गौतम ने ज्योतिष रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया।
भविष्यवक्ता अनीष व्यास ने ज्योतिष गणना- नवसंवत्सर 2078 में भारत की स्थिति और दशा विषय पर बोलते हुए कहा कि मंगल नवसंवत्सर का राजा और मंत्री है। जहा पर मंगल है तो वहां पर अमंगल नहीं हो सकता। भारत प्रगति के पथ पर अग्रसर होगा और विश्व में भारत की अलग पहचान बनेगी। भारत की आर्थिक स्थिति मज़बूत होगी। साथ ही अन्न भरपूर होगा। इससे पूर्व सेमीनार का उद्घाटन दिल्ली के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य डॉक्टर एच एस रावत, दैवेज्ञ अनिल वत्स, ज्योतिष सम्राट डॉक्टर राजेश गौतम, विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास तथा प्रश्न कुंडली विशेषज्ञ एस के जोशी ने दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम संयोजक आचार्य प्रवीण सोनी ने बताया कि विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने अब तक 127 सटीक भविष्यवाणी की है। इनकी सभी भविष्यवाणी सच साबित हुई है। महाकुंभ में 21 ज्योतिषाचार्य को सम्मानित किया गया। पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान का कार्यालय जयपुर के साथ जोधपुर और नागपुर में भी है

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments