योग दिवस : भ्रांतियां, धार्मिक मान्यताएं और धर्म कथाएं!

yoga karne ke sahi tarike upay niyam samay by baba ramdev in hindi

दिल्ली। योग दिवस की तैयारियां जोरों पर है। भारत और विदेशों में योग को बाबा रामदेव ने नई पहचान दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इसे सराहा है। योग भारतीय संस्कृति में अपनी अलग पहचान रखता है।

खासतौर से हिंदू धर्म में योग का सर्वाधिक महत्व है। आध्यात्मिक ही नहीं मानसिक व शारीरिक संतुलन और जरूरतों के लिए योग जरूरी भी है। सेहत और शारीरिक जरूरतों के लिहाज से योग सभी धर्मों के लोगों का स्वीकार्य भी है। बाबा रामदेव का कहना है कि उनका बताया योग सभी धर्म के लोग करते हैं और सेहतमंद रह रहे है। कई मुस्लिम धर्म के लोग भी बाबा रामदेव के योग के वीडियो, सीडी लेकर योग करते हैं। कई शिविरों में योग सीखने के लिए पहुंचते है। यही नहीं अन्य धर्मों के लोग भी बाबा रामदेव से योग सीखते हैं। लोगों का कहना है कि धार्मिंक मान्यताएं अपनी जगह है, लेकिन शरीर को सेहतमंद रखना बेहद जरूरी है। 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस है, इसके लिए सरकार ने भी देशभर में इंतजाम किए है। वहीं लोग भी अपने-अपने स्तर पर योगाभ्यास करेंगे।

योग और धर्म विज्ञान
योग शिक्षक मनीष शर्मा बताते हैं कि हिंदू धर्म के मुताबिक योग भविष्य का धर्म व विज्ञान है। धर्म के साथ साथ आने वाले समय में योग भी बढ़ता जाएगा। योग की क्रियाओं से प्रकृति का दिया हुआ और प्रकृति से जो नहीं मिल सका वह सब कुछ फिर से प्राप्त किया जा सकता है। जैन और बौद्ध दर्शनों में योग का खासा महत्व है। लोगों के मन में भ्रांतिया हैं, कि योग सिर्फ हिंदू धर्म के लोगों के लिए है, लेकिन कई मामलों में यह साबित हो गया है कि दूसरे धर्म के लोग भी योग करेंगे तो सेहतमंद रहेंगे।

उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यानाथ की राय
सीएम योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में एक बयान दिया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि सूर्य नमस्कार और नमाज का स्वरूप मिलता जुलता है। उन्होंने यह भी कहा कि कुछ समाज को तोडऩे वाले लोगों की वजह से सूर्य नमस्कार का विरोध किया जाता रहा है। उन्होंने कहा कि सूर्य नमस्कार के आसन और क्रियाएं मुस्लिम भाईयों के नमाज पढऩे की क्रिया से मिलती जुलती है। यह बात उन्होंने एक योग शिविर में कही थी।

हिंदू परंपरा काप्रचार कर रहे बाबा रामदेव
योग गुरु बाबा रामदेव हिंदू धर्म की परंपराओं का बेहद क्रांतिकारी ढंग से प्रचार कर रहे है। आयुर्वेद को फिर एक बार बाबा रामदेव ने विदेशों में भी मश्हूर कर दिया है।

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top
error: Content is protected !!