दुनिया का इकलौता सिद्धपीठ हनुमान मंदिर, यहां भक्त देते है नारियल की बलि और चढ़ाते हैं कमल के फूल

world's unique lord hanuman temple at sonebhadra up

hanuman mandir near me, hanuman temple near me timings, chamatkari hanuman mandir in india

सोनभद्र. संकट मोचन भगवान हनुमानजी के मंदिर तो आपने कई देखे होंगे, ऐसा सिद्धपीठ हनुमान मंदिर भी है, जो दुनिया में एकलौता हैं। जी हां, उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश के सीमावत्ती इलाके में यह मंदिर स्थित हैं। औड़ी पहाड़ी पर दुनिया में यह एक ही झिंगरदा हनुमान मंदिर हैं, जिसे सिद्धपीठ की मान्यता दी गई हैं। तांत्रिक दृृष्टि से भी यह सिद्धपीठ काफी महत्वपूर्ण हैं।
यहां प्रसाद चढ़ाने से पहले एक अनूठी मान्यता है, जिसका हर भक्त पालन करता है। इस मान्यता के पालन से भगवान हनुमान प्रसन्न होते हैं और भक्तों की झोली खुशियों से भर देते हैं। दरअसल मान्यता के अनुसार यहां नारियल की बलि दी जाती हैं।



कहा जाता हैं कि मंदिर में भक्त मन्नत के लिए एक चुनरी में नारियल बांध देते हैं और मन्नत पूरी होने के बाद नारियल को खोलने आते हैं। यह श्रंगार की परंपरा सदियों से चली आ रही हैं। बताया जाता है कि इस सिद्धपीठ से कोई भक्त खाली हाथ नहीं गया है।

भगवान विष्णु के प्रिय फूल से होती है अर्चना hanuman ji ki puja vidhi hindi me

भगवान हनुमान की पूजा यहां विशेष प्रकार से की जाती है। भगवान हनुमान को भगवान विष्णु जी के प्रिय फूल कमल से पूजन-अर्चन किया जाता है। कमल के पुष्प से पूजन की परंपरा यहां सदियों से चली आ रही हैं। इस फूल के लिए मंदिर के पास में ही प्राकृतिक सुषमा समेटे टिप्पा झरिया सरोवर है, जिसमें कमल के कई फूल हर मौसम में रहते हैं। इसी वजह से यह सरोवर भक्तों के आकर्षण का केंद्र भी रहता है। भक्त इस बात को बड़े चमत्कार से कम नहीं मानते हैं।

miraculous temple of hanuman in india
स्वयं प्रकट हुए थे भगवान हनुमान hanuman ji ki photo hd me

औड़ी पहाड़ी पर झिंगरदा हनुमान मंदिर में भगवान हनुमान जी स्वयं प्रकट हुए थे। करीब दो हजार साल पहले से यहां भगवान के प्रकट होने के साथ ही मूर्ति स्थापित हैं। मंदिर पुजारी रामलल्लू पांडेय का कहना है कि सिद्धपीठ पर सिंगरौली के राजघराने ने पूजा कराई थी। इसके बाद भगवान का चमत्कार देख यहां दक्षिण भारत की संस्कृति के अनुसार भगवान हनुमान का भव्य मंदिर तैयार करवाया गया।



कहा जाता है कि समर्थ गुरु रामदास ने इस मंदिर में हनुमानजी की पूजा की है। पुजारी की आठ पीढिय़ां मंदिर की पूजा कर रही हैं।

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top
error: Content is protected !!