नवरात्र में 21 से 29 सितंबर तक होगी मां की आराधना, जानिए पूजा का शुभ समय

happy navratri wishes massages images quotes greetings facebook whatsapp status in hindi

(navratri 2017 kalash sthapana during navratri give happiness prosperity power news in hindi)

इस बार 21 सितंबर 2017 से नवरात्र उत्सव आरंभ हो रहा हैं। नवरात्रि में मां दुर्गा के सभी नौ रुपों की धूमधाम से पूजन की जाती हैं। इस बार 21 सितंबर 2017 गुरुवार को शुरु होकर 29 सिंतबर 2017 शुक्रवार को संपन्न हो रही हैं।
देवी दुर्गा के नौ रुप हैं, शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंधमाता, कात्यायनी, कालराधि, महागौरी और सिद्धिदात्री हैं। नवरात्र का अर्थ नौ रातें होता हैं। इन नौ रातों में तीन देवी पार्वती, लक्ष्मी और सरस्वती के नौ रुपों की पूजा होती हैं, जिन्हें नवदुर्गा कहते हैं।


ऐसे करें घट-स्थापना (navratri ghatasthapana muhurat in hindi)
महामाया मंदिर के पंडित मनोज शुक्ला ने बताया कि हिंदू धर्म के नियमों के अनुसार कलश के नीचे जौ और सात प्रकार के अनाज बोते हैं। इन्हें विजयदशमी के दिन जंत्री के रुप में ग्रहण करते हैं। इसके बाद कलश जल से भरते हैं। फिर सात प्रकार की मिट्टी, सुपारी, मुद्रा रखते हैं। कलश को पांच प्रकार के पत्तों से सजते हैं। फिर विधि-विधान से कलश को मां दुर्गा की प्रतिमा के सामने पूजन स्थल पर मध्य में स्थापित करते हैं।

सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज लाइक करें-  https://www.facebook.com/DharmKathayen/

शारदीय नवरात्रि 2017 ~ कार्यक्रम विवरण (shardiya navratri 2017 calendar in hindi )

21 सितम्बर गुरुवार प्रतिपदा (माँ शैलपुत्री पूजन)
सुबह आरती 7:30 बजे, कलश स्थापना सुबह 11:36 से,
ज्योति आरती शाम 5 :00 बजे, फलाहारी भोग शाम 6:00 बजे
सन्ध्या आरती रात्रि 8:00 बजे

22 सितम्बर शुक्रवार द्वितीया – (माँ ब्रह्मचारिणी पूजन)
प्रातः आरती सुबह – 8 :00 बजे, मध्यान्ह आरती दोप. – 12.30 बजे
फलाहारी भोग दोप. 1.30 बजे , सन्ध्या आरती रात्रि 8 :00 बजे

23 सितम्बर शनिवार तृतीया – (माँ चन्द्रघण्टा पूजन )
प्रातः आरती सुबह 8 :00 बजे, मध्यान्ह आरती दोप.12:30 बजे
फलाहारी भोग दोप. 1:30 बजे , सन्ध्या आरती रात्रि 8:00 बजे

24 सितम्बर रविवार चतुर्थी -(माँ कुष्मांडा पूजन )
प्रातः आरती सुबह 8 :00 बजे, मध्यान्ह आरती दोप. 12:30 बजे
फलाहारी भोग दोप. 1:30 बजे, सन्ध्या आरती रात्रि 8:00 बजे

navratri 2017 kalash sthapana during navratri give happiness prosperity power news in hindi

25 सितम्बर सोमवार पंचमी- ( माँ स्कंदमाता पूजन )
प्रातः आरती सुबह 8:00 बजे, मध्यान्ह आरती दोप. 12:30 बजे
फलाहारी भोग दोप.1:30 बजे, सन्ध्या आरती रात्रि 8:00

26 सितम्बर मंगळवार षष्ठी- ( माँ कात्यायनी पूजन )
प्रातः आरती सुबह 8:00 बजे, मध्यान्ह आरती दोप.12:30 बजे
फलाहारी भोग दोप. 1:30 बजे, सन्ध्या आरती रात्रि 8:00 बजे

27 सितम्बर बुधवार महासप्तमी- ( माँ कालरात्रि पूजन)
प्रातः आरती सुबह 8:00 बजे, मध्यान्ह आरती दोप. 12:30 बजे
फलाहारी भोग दोप. 1:30 बजे, सन्ध्या आरती रात्रि 8:00 बजे
महानिशा पूजा रात्रि 12 बजे से




28 सितम्बर गुरुवार महाअष्टमी – (माँ महागौरी पूजन )
प्रातः आरती सुबह 8:00 बजे, मध्यान्ह आरती दोप. 12:30 बजे
फलाहारी भोग दोप. 1:30 बजे, हवन पूजन आरम्भ शाम 6:00बजे
हवन आहुति आरम्भ शाम 7:00 बजे, हवन पूर्णाहुति रात्रि 10:30 बजे
हवन पश्चात आरती रात्रि 11:00 बजे
ब्राह्मण भोजन रात्रि 12:00 बजे
ज्योति विसर्जन रात्रि 12:30 बजे से
शस्त्र सिंगार रात्रि 2:00 बजे से

29 सितम्बर शुक्रवार महानवमी-( माँ सिद्धिदात्री पूजन )
प्रातः आरती सुबह 8 :00 बजे , कन्या पूजन-भोजन 11:00 बजे
मध्यान्ह आरती दोप. 12:30 बजे , राजभोग (56 भोग)दोप. 1:30 बजे
भंडारा प्रसाद दोप. 2:00 बजे से, सन्ध्या आरती 8:00 बजे

जस भजन कार्यक्रम प्रतिदिन
शाम 5:00 बजे से पहला प्रोग्राम, रात्रि 9:00 बजे से दूसरा प्रोग्राम

30 सितम्बर शनिवार – विजयादशमी (दशहरा )

 

 

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

 

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!