आज है साल की आखिरी एकादशी, सफला एकादशी व्रत से पाप दूर और भगवान विष्णु के प्रसन्न होने की मान्यता

saphala ekadashi know importance and significance

(saphala ekadashi 2017 how to know impotence and significance of last ekadashi in this year read hindi story why people worship lord vishnu)

सफला एकादशी का व्रत पौष माह की कृष्णपक्ष की एकादशी को मनाया जाता है। इसका व्रत 13 दिसंबर के कर सकते हैं। पंडित पी. एस. त्रिपाठी बताते हैं कि इस दिन भगवान कृष्ण की पूजा का विधान है। एकादशी का व्रत रखने वाले दषमी के सूर्यास्त से भोजन नहीं करते। एकादशी के दिन ब्रम्हबेला में भगवान कृष्ण की पुष्प, जल, धूप, अक्षत से पूजा की जाती है। इस व्रत में केवल फलों का ही भोग लगता है। यह ब्रम्हा, विष्णु, महेश त्रिदेवों का संयुक्त अंष माना जाता है। यह अंश अच्युत के रूप में प्रकट हुआ था। यह सफलता देने वाला व्रत माना जाता है। एकादशी के व्रत में कोई भी अनाज, मसाले का प्रयोग नहीं करना चाहिए। सिर्फ एक समय फलाहारी भोजन करना चाहिए।



एकादशी के व्रत के उपरांत द्वादशी को स्नान तथा पूजन के उपरांत एक व्यक्ति का पूर्ण आहार के बराबर खाद्य सामग्री का दान करना चाहिए। उसके उपरांत अपने व्रत का पारण करना चाहिए। इस एकादशी व्रत को फल से किया जाता है। इसलिए इसे सफला एकादशी कहते हैं। मान्यता है कि भगवान को चढ़ाये गए फल व्यक्ति के जीवन में सभी मनोरथ को पूर्ण करने वाले होते हैं।

सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज लाइक करें-  https://www.facebook.com/DharmKathayen/

व्रत विधि (saphala ekadashi vrat katha in hindi)

– स्नान के बाद व्रत का संकल्प ले
– श्री विष्णु जी को पंचामृत,पुष्प, और ऋतु फल अर्पित करें
– श्री विष्णु के मन्त्रों का जाप करें
– रात्रि को चंद्रोदय होने पर दीपदान करें
– रात्रि जागरण करें
– अगले दिन सुबह जूते, छाते, वस्त्र का दान करें



– ब्राह्मण को दक्षिणा दे
– नींबू पानी पीकर व्रत का समापन करें

 यह भी पढ़ें:- पीपल की पूजन में यह रखें सावधानियां, वरना हो जाएंगे कंगाल

इन बातों का रखें ध्यान (worship lord vishnu on ekadashi)

– व्रत न रख सके, तो भी सात्विक और हल्का आहार लें
– विष्णु जी की उपासना और गीता का पाठ जरुर करें
– वाणी और व्यवहार पर नियंत्रण रखें
– मांस-मदिरा से दूर रहे


whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें… 

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!