भगवान विष्णु साक्षात विश्राम करने आते हैं राजीव लोचन मंदिर!

rajiv lochan vishnu mandir rajim

राजिम. देश में भगवान विष्णु के कई मंदिर हैं, लेकिन एक मंदिर ऐसा भी हैं, जिसमें साक्षात भगवान विष्णु विश्राम करने के लिए आते हैं। जी हां, छत्तीसगढ़ के राजिम में महानदी तट पर राजीव लोचन मंदिर में भगवान विष्णु स्वयं विश्राम के लिए आते हैं। इसके कई बार प्रमाण भी देखे गए हैं।
दरअसल रात्रि के समय भगवान विश्राम के लिए आते हैं, उस समय भगवान के कक्ष में विश्राम की जगह बिछाई गई चादर में सिलवटें मिलना और तेल से भरी कटोरी का खाली मिलना प्रमाण हैैं। रात को तेल से भरी कटोरी रखी होती हैं, लेकिन सुबह कटोरी खाली मिलती हैं।



यहां पलंग पर बिछाई गई चादर भी सिकुड़ी और सिलवटें पड़ी हुई होती हैं। मंदिर में रात में चमत्कारिक रुप से ताल लगे कक्ष में भगवान प्रवेश कर लेते हैं और पलंग पर लेटकर आराम किया और मालिश भी की हों।

सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज लाइक करें-  https://www.facebook.com/DharmKathayen/

मंदिर में लगाते हैं ताले
भगवान विष्णु के मंदिर में विश्राम करने की बात सामने आने के बाद से मंदिर में रोज ताले लगाए जाते हैं। लेकिन फिर भी भगवान का चमत्कार रोज देखने को मिलता हैं। यहां वास्तविकता जांचने के लिए कई बार दरवाजों पर पहरा दिया जाता हैं लेकिन सुबह फिर ऐसा ही नजारा मिलता हैं कि भगवान रात में विश्राम करके गए हैं। मंदिर का निर्माण स्वयं विश्वकर्मा ने किया था।

हर वर्ष जन्मोत्सव पर लगता है मेला
भगवान विष्णु के जन्मोत्सव पर हर वर्ष राजिम में भगवान विष्णु के नाम पर राजिव लोचन के मंदिर परिसर में मेला लगता हैं।



माघ पूर्णिमा से लेकर शिवरात्रि तक मेला लगता हैं। यहां श्रृद्धालुओं में आस्था हैं कि इस दिन यहां त्रिवेणी संगम में स्नान करने से हर प्रकार की बाधाओं व पापों से मुक्ति मिलती हैं। यहां भगवान विष्णु का जन्मोत्सव मनाने के लिए देश-दुनिया से श्रृद्धालु आते हैं।

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

Top
error: Content is protected !!