mahashivratri 2018 : मंदोदरी की इस पूजा से प्रसन्न हुए थे महादेव, लड़कियां वरदान मांगने के लिए पूजती हैं शिवलिंग

worship of lord shiva in unique temple were found ravana mandodari

(amazing baba baleshwar nath mahadev Mandir in meerut uttar pradesh)
मेरठ.
त्रेता युग का बिल्वेश्वर नाथ महादेव मंदिर आज भी रावण की पत्नी मंदोदरी की पूजा की सच्ची कहानी के लिए देशभर में ख्यात हैं। इस मंदिर में शिवलिंग पत्थर की बजाए धातु से बने हुए है। सावन माह में यहां एक महोत्सव जैसा माहौल रहता है।

दरअसल इसी मंदिर में मंदोदरी ने शिवलिंग की पूजा की थी, जिससे भगवान शिव ने प्रसन्न होकर साक्षात प्रकट हुए थे। भगवान शिव से मंदोदरी ने सबसेे शक्तिशाली और सबसे विद्वान व्यक्ति से विवाह का वरदान मांगा था।



कहा जाता है कि मंदोदरी और रावण पहली बार इसी मंदिर में भगवान शिव के सामने ही मिले थे। यहां महिलाएं भगवान शिव की पूजा करती है, मान्यता है कि सोमवार को दर्शन और व्रत से मनोकामना पूरी होती हैं।

सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज लाइक करें-  https://www.facebook.com/DharmKathayen/

ऐसा है श्री बिल्वेश्वर नाथ महादेव का चमत्कार (miraculous temples of baba baleshwar nath mahadev)

श्री बिल्वेश्वर नाथ महादेव का चमत्कार आज के कलयुग में भी मशहूर है। मंदिर के पुजारी हरीश चंद्र जोशी बताते हैं यह मंदिर रामायण काल से है। उस समय मेरठ शहर का नाम मयराष्ट्र हुआ करता था, जिसके राजा मय नामक दानव थे। उनकी पुत्री मंदोदरी थी। मंदोदरी उस समय मंदिर में शिवलिंग की पूजा करने अपनी सहेलियों के साथ जाती थी। वे मंदिर के समीप स्थित सती सरोवर में स्नान करके भगवान शिव की अर्चना करती थी।



उनकी पूजा से भगवान शिव प्रसन्न हुए और भगवान ने मंदोदरी से इच्छा पूछी तो उन्होंने कहा मुझे विद्वान और शक्तिशाली जीवनसाथी मिले। उसी समय भगवान शिव ने आशीर्वाद दिया। वहां रावण आए और मंदिर में ही मंदोदारी और रावण पहली बार मिले थे। इसके बाद से इस चमत्कारी कथा को सुनकर यहां लड़कियां महिलाएं पूजा करती है और उनकी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

worship of lord shiva in unique temple were found ravana mandodari

भव्य है मुख्य द्वार (baba baleshwar nath mahadev Mandir Story In Hindi)

मंदिर का मुख्य द्वार भव्य रुप से बना हुआ है। देखने में बद्रीनाथ धाम जैसा लगता है। लेकिन मंदिर के अंदर के दरवाजे छोटे हैं। यहां एक कुआं भी है, इसी कुएं से मंदोदरी जल लेकर भगवान शिव का अभिषेक किया करती थीं।

यह भी पढ़ें:-  शिव देंगे सिद्धि, सिद्धि योग की महाशिवरात्रि 13 को


whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top
error: Content is protected !!