गुरु पूर्णिमा: 12 साल बाद आया है यह महासंयोग, गुरु पूजा से होगा यह फायदा

latest updates on guru purnima 2017 guru purnima ke totke purnima ke upay in hindi

हिंदू वर्ष के आषाढ़ शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा के दिन गुरु पूर्णिमा के रुप में धूमधाम से मनाया जाता है। इस बार साल 2017 की गुरु पूर्णिमा 9 जुलाई को मनाई जाएगी। इसे व्यास पूजा के रुप में मनाई जाती है। इस बार की गुरु पूर्णिमा पर 12 साल बाद महासंयोग बना है।

यह पूर्णिमा राजयोग लेकर आएगी। इस दिन गुरु की पूजा करने से सार कष्ट दूर हो जाएंगे। वास्तु के अनुसार गुरुपुर्णिमा वेद व्यास का प्रकट दिवस है। इसलिए गुरु पुर्णिमा मनाई जाती है। इस दिन सूर्योदय से शुरू होकर शाम तक रहेगा। इस दिन 4.48 से स्वार्थ सिद्ध योग रहेगा। इस दिन सच्चे मन से अपने गुरु की पूजा करें, आपकी मनोकामना जरूर पूरी होगी।

यह है गुरु पूर्णिमा की कथा
गुुरु वेद व्यास का जन्म भी आषाढ़ माह की पूर्णिमा के दिन हुआ था। इसलिए इस दिन गुरु पुर्णिमा मनाई जाती है। दरअसल महर्षि वेदव्यास ईश्वर के अवतार माने जाते हैं, कहा जाता है कि वे आज भी जीवित है और अमर हैं। उनका पूरा नाम कृष्णद्वैपायन है। उन्होंने वेदों का अलग-अलग हिस्सों में विभाजित किया था। इसी वजह से वे वेदव्यास कहलाए। पिता महर्षि पराशर और मां सत्यवती थीं। कहा जाता है कि द्वापर काल के आखिरी भाग में वेदव्यास प्रकट हुए थे। वे उस वक्त ही भविष्यवाणी कर चुके थे, कि कलयुग में मानव के शरीर और मन की शक्ति खत्म सी हो जाएगी। इस वहज से कलयुग में सभी वेदों को पढऩा और समझना संभव ही नहीं होगा। इसलिए उन्होंने महाभारत की रचना की थी।

 latest updates on guru purnima 2017 guru purnima ke totke purnima ke upay in hindi

इसमें सभी वेदों का सार है। उन्होंने धर्मशास्त्र, नीतिशास्त्र, उपासना व ज्ञान एवं विज्ञान की सभी जिज्ञासाओं को महाभारत में सरल तरीके से बताया है। हिंदू धर्म में महर्षि वेद व्यास परम पुरुष का दर्जा दिया गया है। इसलिए उनके जन्मदिन पर गुरु पूर्णिमा मनाई जाती है। हमारे जीवन में हमने गुरु और शिक्षक को सबसे बड़े आदर्श की जगह रखा है। यह गुरु पूर्णिमा किसी अंधविश्वास पर नहीं है, यह गुरु के लिए आदर और सम्मान के भाव से मनाई जाती है।

 

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top
error: Content is protected !!