डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को सजा होते ही भक्तों ने यह कांड कर दिया!

dera sacha sauda chief gurmeet ram rahim singh exclusive story

(latest news of dera sacha sauda chief gurmeet ram rahim singh)

चंडीगढ़. डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के लिए सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने सजा सुनाई। पहले एक मामले में 10 साल की सजा सुनाई गई फिर दूसरे मामले में 10 और साल की सुनाई गई। कोर्ट ने उसके जघन्य अपराध को देखते हुए रहम नहीं किया। दोनों केस में दस-दस साल के सश्रम कारावास की सजा एक साथ चलेंगी। उस पर 15-15 लाख रुपए का जुर्माना भी ठोका हैं। इस राशि में से 14-14 लाख रुपए दोनों पीडि़ताओं को दिए जाएंगे। पंचकुला स्थित सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने 25 अगस्त को राम रहीम सिंह को भारतीय दंड संहिता की 3धाराओं के तहत दोषी ठहराया था। सजा सुनते ही राम रहीम के भक्तों ने सिरसा में आगजनी कर दी। यहां दो वाहनों में आग लगा दी।


धर्म के नाम पर खुद को भगवान घोषित करने वाले कुछ लोग आम लोगों की आंखों में किसी तरह धूल झोंकने में महारथ हासिल कर लेते हैं, यह बात लाखों अनुयायियों की फौज रखने वाले डेरा सच्चा सोदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को देखकर आसानी से समझ में आती हैं।

सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज लाइक करें-  https://www.facebook.com/DharmKathayen/

दरअसल गुरमीत राम रहीम सिंह एक साध्वी के साथ छेड़छाड़ के मामले में जेल की हवा खानी पड़ी हैं। साध्वी ने खुद हाई कोर्ट को चि_ी भेजकर मामला बताया था। योन शोषण केस में गुरमीत राम रहीम पर 25 अगस्त को केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो कोर्ट में दोषी ठहराया गया है।

यह भी पढ़ें:- डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के समर्थकों से खौफ में हैं तीन राज्यों की सरकार, जानिए पूरा मामला

कौन हैं गुरमीत राम रहीम सिंह
गुरमीत राम रहीम सिंह अपने माता-पिता की इकलौती संतान हैं। गुरमीत का जन्म 15 अगस्त 1967 को राजस्थान के श्रीगंनगर जिले में गुरुसर मोदिया में जाट सिख परिवार में हुआ था। गुरमीत को सिर्फ 7 साल की आयु में ही 31 मार्च 1974 को डेर प्रमुख शाह सतनाम सिंह जी ने नाम दिया था। इस डेरा सच्चा सौदा की स्थापना 1948 को शाह मस्ताना महाराज ने की थी।

dera sacha sauda chief gurmeet ram rahim singh exclusive story

शाह मस्ताना महाराज के बाद डेरा के गद्दीनशीन शाह सतनाम महाराज बने और उन्होंने 1990 में अपने अनुयायी संत गुरमीत सिंह को गद्दी सौंपी। संत गुरमीत का नाम संत गुरमीत राम रहीम सिंह इंसां कर दिया गया था। संत गुरमीत मूल रूप से राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले के गांव गुरुसरमोडिया के रहने वाले हैं।

यह भी पढ़ें:- बुध्दि के देव भगवान गणेश : पूजा का महत्व, आरती

 

इस मामले में है आरोपी
हरियाणा के पंचकुला में सीबीआई की विशेष अदालत दुष्कर्म के केस में 25 अगस्त को दोषी ठहराया गया है, वहीं से जेल भेज दिया गया था। डेरा सच्चा सोदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह आरोपी पाया गया। इस केस की सुनवाई 2007 से चल रही हैं। राम रहीम सिंह पर अपनी महिला अनुयायी के साथ डेरा शिविर में कई बार रेप किए जाने का आरोप हैं। ये डेरा शिविर हरियाणा के सिरसा के बाहरी क्षेत्रों में है, जिसकी दूरी राजधानी चंडीगढ़ से 260 किमी है।

 

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!