समुद्र में तैरता है चमत्कारी शिवलिंग, भगवान राम ने यहां कराया था विभीषण का राज्याभिषेक

kothandaramaswamy temple rameshwaram story in hindi

(Story Of Kothandaramaswamy Temple Rameshwaram Amazing Shivling In Hindi)
त्रेता युग में भगवान राम ने रावण पर विजय पाने के बाद लंका का राजा विभीषण को बनाया था। जिस जगह रामजी ने विभीषण का राज्याभिषेक किया था, वहां आज भी समुद्र में तैरता हुआ चमत्कारी शिवलिंग मौजूद हैं। देश-दुनिया से आने वाले श्रद्धालु इस जगह पर शिवलिग का अर्चना करते हैं, कहा जाता है कि साक्षात भगवान शिव ने यहां प्रकट होकर विभीषण को राज्याभिषेक का आशीर्वाद दिया था। इसलिए यह चमत्कारी शिवलिंग है। यहां जाने के लिए तमिलनाडू के समीप एक मंदिर स्थित हैं।

सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज लाइक करें-  https://www.facebook.com/DharmKathayen/

यहां से समुद्र में तैरते हुए शिवलिंग तक पहुंचा जा सकता है। यहां की जाने वाली पूजा चमत्कारी फलदायी होती हैं। शिवभक्त यहां दूर-दूर से पूजन-अर्चन करने आते हैं। सावन सोमवार को यहां पूजन करना बेहद शुभ माना गया हैं। यहां सावन माह में भक्तों की जमकर भीड़ होती हैं।

कभी नहीं डूबता है चमत्कारी शिवलिंग (famous shiva lingam in india )

यहां चमत्कारी शिवलिंग कभी नहीं डूबता हैं। इस बात से बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी हैरान हैं। समुद्र में जो शिवलिंग बना हुआ हैं, वह एक बड़े पत्थर से बना हुआ है। बताया जाता है कि यह वहीं पत्थर है, जिससे श्रीलंका जाने के लिए रामसेतु का निर्माण किया गया था।



इस शिवलिंग की पूजा करने के लिए भक्तों को समुद्र में कुछ दूरी तक पानी में चलकर जाना पड़ता हैं। यहां से श्रीलंका के बीच त्रेता युग में जो रामसेतु बना था, उसे दूरबीन की मदद से देखा जा सकता है। इसके लिए 10 रुपए लिए जाते हैं। यह 48 किमी लंबा पुल था, जो श्रीलंका तक बनाया गया था।

 

vibhishana temple rameshwaram

यहां है विभिषणजी का एकमात्र मंदिर (story of vibhishana temple in india)

मंदिर जाकर आए भक्त महेश गुप्ता ने बताया कि यहां जाने के लिए रामेश्वरम् से 13 किमी दूर कोथंदारामार मंदिर हैं। यह मंदिर विभिषण जी का देश में एक मात्र मंदिर है।



इस मंदिर में पूजन करने से भगवान राम प्रसन्न होते हैं और भक्तों की मनोकामना पूरी होती हैं, ऐसा माना जाता हैं। यह क्षेत्र बंगाल की खाड़ी और मन्नार की खाड़ी का समुद्र कहा जाता है।

यह भी पढ़ें:- खैराबादधाम में आस्था और अनुष्ठान का इकलौता अष्टकोणीय श्रीफलौदी माता मंदिर

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

 

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!