गुरु पूर्णिमा 2017 पर जानिए राशिफल, मिलेगा गुरु का आर्शीवाद, होगा भाग्योदय

guru purnima 2017 hindi news

 

गुरु पूर्णिमा के मौके पर वैदिक ज्योतिष की रहस्यमयी दुनिया में हम आपकों रूबरू कराने जा रहे है 12 राशियों के भविष्यफल से। भविष्य और वर्तमान के बारे में आपको बताएंगे जिंदगी संवारने के तरीके। आइए जानते हैं सिलसिलेवार तरीके से सभी राशियों के बारे में क्या कहती हैं ग्रहों की चाल-
⚜ *आज का राशिफल* :-

*राशि फलादेश मेष* :-
राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। धनार्जन होगा। तीर्थदर्शन संभव है। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। लाभ होगा।

🐂 *राशि फलादेश वृष* :-
प्रेम-प्रसंग में जोखिम न लें। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में सावधानी रखें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। हानि होगी।

*राशि फलादेश मिथुन* :-
नेत्रों में कष्ट संभव है। जीवनसाथी से सहयोग मिलेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। यात्रा व निवेश अनुकूल रहेंगे।

🦀 *राशि फलादेश कर्क* :-
संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। विवाद न करें। आर्थिक उन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। प्रसन्नता रहेगी।

🦁 *राशि फलादेश सिंह* :-
यात्रा मनोरंजक रहेगी। स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद मिलेगा। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। निवेश शुभ रहेगा।

मासिक राशिफल जानने के लिए यहां क्लिक करें- http://www.astrosage.com/rashifal/masik/

🏻 *राशि फलादेश कन्या* :-
परिश्रम अधिक व लाभ कम होगा। विवाद को बढ़ावा न दें। बेचैनी रहेगी। पुराना रोग उभर सकता है।

⚖ *राशि फलादेश तुला* :-
प्रयास सफल रहेंगे। प्रतिष्ठा बढ़ेगी। यात्रा मनोरंजक रहेगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। मित्र व संबंधी मिलेंगे।

🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक* :-
दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। उत्साहवर्द्धक सूचना मिलेगी। पूछ-परख बढ़ेगी। धनलाभ होगा।

🏹 *राशि फलादेश धनु* :-
भाग्योन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। यात्रा सफल रहेगी। चिंता रहेगी।

🐊 *राशि फलादेश मकर* :-
दूसरों के झगड़ों में न पड़ें। अपव्यय होगा। कर्ज लेना पड़ सकता है। जरूरी चीजें संभालकर रखें।

 

rashifal

 

🏺 *राशि फलादेश कुंभ* :-
आर्थिक उन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। यात्रा, निवेश व नौकरी मनोनुकूल रहेंगे। झंझटों में न पड़ें। चिंता रहेगी।

*राशि फलादेश मीन* :-
योजना फलीभूत होगी। व्यस्तता रहेगी। कार्यपद्धति में सुधार होगा। प्रतिष्ठा बढ़ेगी। लाभ होगा।

☯ आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो ।

।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।।

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩

 

।। 🕉 ।।
🚩 *सुप्रभातम्* 🚩
««« *आज का पंचांग* »»»
कलियुगाब्द……………5119
विक्रम संवत्………….2074
शक संवत्…………….1939
मास…………………..आषाढ़
पक्ष ……………………शुक्ल
तिथी………………….पूर्णिमा
प्रातः 09.36 पर्यंत पश्चात प्रतिपदा
तिथि स्वामी………..विश्वदेव
नित्यदेवी………….कामेश्वरी
रवि……………….दक्षिणायन
सूर्योदय……..05.48.09 पर
सूर्यास्त……..07.15.45 पर
नक्षत्र………………..पूर्वाषाढ़ा
दोप 04.47 पर्यंत पश्चात उत्तराषाढ़ा
योग………………………इंद्र
प्रातः 10.38 पर्यंत पश्चात वैधृति
करण…………………….बव
दुसरे दिन प्रातः 09.36 पर्यन्त पश्चात बालव
ऋतु………………………वर्षा
दिन…………………..रविवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार* :-
09 जुलाई सन 2017 ईस्वी ।

☸ शुभ अंक…………4
🔯 शुभ रंग………..लाल

👁‍🗨 *राहुकाल* :-
संध्या 05.31 से 07.11 तक ।

🚦 *दिशाशूल* :-
पश्चिमदिशा – यदि आवश्यक हो तो दलिया, घी या पान का सेवनकर यात्रा प्रारंभ करें।

✡ *चौघडिया* :-
प्रात: 07.31 से 09.11 तक चंचल
प्रात: 09.11 से 10.51 तक लाभ
प्रात: 10.51 से 12.31 तक अमृत
दोप. 02.11 से 03.51 तक शुभ
सायं 05.31 से 07.11 तक शुभ
रात्रि 08.31 से 09.51 तक अमृत
रात्रि 09.51 से 11.11 तक चंचल ।

💮 *आज का मंत्रः*
।। ॐ रवये नम: ।।

 *संस्कृत सुभाषितानि* :-
*अष्टावक्र गीता – सप्तदश अध्याय 😗
धर्मार्थकाममोक्षेषु
जीविते मरणे तथा।
कस्याप्युदारचित्तस्य
हेयोपादेयता न हि॥१७- ६॥
अर्थात :
धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष, जीवन और मृत्यु में उपयोगिता और अनुपयोगिता की समता किसी महात्मा में ही होती है॥६॥

🍃 *आरोग्यं* :-
*कब्ज के घरेलु उपाय और नुस्खे 😗

— भोजन के साथ सलाद के रूप में कच्ची गाजर , मूली , हरी ककड़ी , प्याज ,पत्ता गोभी आदि बारीक काटकर सेवन करना चाहिए। ताकि भरपूर रेशे मिलें और कब्ज ना होने पाए ।

— सोने से पहले भीगी हुई किशमिश खाने से कब्ज ठीक हो जाती है। किशमिश को चार पाँच घंटे पानी में भिगोंना चाहिए ।

— छोटी हरड़ को पीस कर चूर्ण बन लें। ये चूर्ण आधा चम्मच रात को सोते समय गुनगुने पानी से फांक लें। आवश्यकता के अनुसार मात्रा कम या ज्यादा कर कर सकते है ।

— फलों में घुलनशील और अघुलनशील दोनों प्रकार के रेशे पर्याप्त मात्रा होते है जो पेट साफ करते है। विशेषकर नाशपती ( Pear ) और बील कब्ज दूर करने के लिए अवश्य खाने चाहिए। इसके अलावा पपीता , आम और अनार आदि भी फायदा करते है ।

— पांच चम्मच मुलहठी का चूर्ण , एक चम्मच सोंठ का चूर्ण व दो चम्मच गुलाब के सूखे फूल तीनो चीजें एक गिलास पानी में डालकर उबालें । जब आधा रह जाये तो छान कर ठंडा होने दें। ऱात को सोते समय इसे पियें। सुबह पेट आराम से साफ होगा , इससे आंव भी ठीक होती है। कब्ज में भी आराम मिलता है ।

 

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!