गुरु पूर्णिमा 2017: गुरु पूजन करने आश्रम में उमड़ी भीड़

guru purnima 2017 event in sant shri asaramji bapu ashram

लवकुश वाटिका में देखने मिला गुरुशिष्य का अनूठा प्रेम सम्बन्ध, सनातन सत्य का परिचय देता ये गुरुपूर्णिमा का पर्व, गुरुपूर्णिमा महोत्सव ऐसा है की भगवान भी इस पर्व का लाभ लेते थे | भगवान कृष्ण अपने गुरु सांदीपनी के श्रीचरणों में, भगवान राम अपने गुरु वसिष्ठ के श्रीचरणों में, इत्यादि अनेक दिव्य आत्माओं ने धरा पर अवतरित होकर इस पर्व को मनाकर समाज को गुरुशिष्य के सम्बन्ध की दिव्यता का सुन्दर सन्देश दिया है |
निश्चित ही पूज्य बापूजी के सभी भक्तों के लिए यह पर्व बहुत ही ख़ास होता है | इसीलिए बड़ी संख्या में पूरे राज्य के भक्त एकत्रित होकर यह पर्व मनाते हैं | लवकुश वाटिका, संत श्री आशारामजी आश्रम, वी.आई.पी. रोड में गुरुपूर्णिमा निमित्त पूज्य बापूजी के जीवन पर आधारित पाठ, गुरुपूजा, माला पूजन, यज्ञ हवन, भजन, कीर्तन, सत्संग व भंडारे का आयोजन किया गया |

अन्य धार्मिक खबरों के लिए यह भी पढ़ें:- http://www.livehindustan.com/astrology/
आश्रम के आध्यात्मिक वातावरण में प्रातः 8 बजे से ही ज्ञान भक्ति की मधुमय धारा का प्रवाह शुरू हो गया था | आगंतुक भक्तों के लिए पंचगव्य पान की व्यवस्था थी | सभी भक्तों ने उसके बाद अपने गुरु की श्रीपादुका की शोभायात्रा निकाली व पूजन किया | उसके बाद माला पूजन, सत्संग, भजन, कीर्तन व पूज्य बापूजी के स्वास्थ्य लाभ हेतु हवन यज्ञ किया | फिर आरती के बाद सभी भक्तों ने भंडारा में प्रसादी पायी, जो की शाम 5:30 बजे तक चलता रहा |

guru purnima 2017 event in sant shri asaramji bapu ashram

पूज्य बापूजी के शिष्यों के लिए प्रत्येक पर्व ज्ञान, भक्ति और कर्मयोग सिद्ध करने का साधन होता है | यही कारण है की गुरुपूनम के महापर्व पर पुरे छत्तीसगढ़ से लगभग तीन हजार की संख्या में साधकों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कर अपने भाग्य को संवारा | कर्मयोगी सेवक तो कई दिन से ही आयोजन की व्यवस्था में लगे थे |
योग वेदांत सेवा समिति के संतराम साहू, महेश ब्रिजवानी, ललिता यदू, प्रतिभा सिंह, कमलेश सिंह, क्षीरेश्वर क्षत्रिय, आकाश गोयल आदि ने कार्यक्रम की सफलता में सेवा प्रदान की |

 

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!