रायपुर में श्रद्धा संवर्धन 108 कुंडीय गायत्री महायज्ञ, देशभर से आ रहे श्रद्धालु

108 kundiya Gayatri mahayagya in raipur chhattisgarh

(108 kundiya Gayatri mahayagya in raipur chhattisgarh)
रायुपर.
गायत्री परिवार द्वारा रायपुर के साइंस कॉलेज ग्राउंड में तीन दिनी श्रद्धा संवर्धन 108 कुंडीय गायत्री महायज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। भव्य कलश यात्रा के साथ शुक्रवार को महायज्ञ की शुरुआत हुई।
श्रद्धा संवर्धन 108 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ दिनांक 15 से 18 दिसम्बर 2017 तक होगा। युगतीर्थ शांतिकुंज हरिद्वार की प्रेरणा से आयोजित हो रहे इस कार्यक्रम में पुस्तक मेला, भव्य प्रदर्शनी, विविध संस्कार एवं दीप महायज्ञ आयोजन भी किए जा रहे हैं। महायज्ञ में शामिल होने के लिए प्रदेश ही नहीं देशभर के श्रद्धालुओं को आमंत्रित किया था, बड़ी संख्या में दूर-दराज से श्रद्धालु पहुंचे हैं।

जानकारी के लिए यहां संपर्क करें (Gayatri Mandir Contact No)

गायत्री महायज्ञ संचालन समिति, गायत्री परिवार, गायत्री शक्तिपीठ, समता कॉलोनी, रायपुर महानगर, छत्तीसगढ़
संपर्क सूत्र-

79741-36180,
94252-61531
98267-61474
98274-03092

गायत्री महायज्ञ की समय सारणी (mahayagya ka shubh muhurat )

-दिनांक 16 दिसंबर शनिवार को सुबह 6 बजे से शाम 7.30 बजे तक सामूहिक जाप, ध्यान, प्रज्ञा योग, व्यायाम, प्राणायाम।
प्रात: 8.30 से 1 बजे तक -देवपूजन, 108 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ।

सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज लाइक करें-  https://www.facebook.com/DharmKathayen/

दोपहर 1.30 से 3 बजे तक -कार्यकर्ता गोष्ठी।
दोपहर 3 बजे से 5 बजे तक युवा जागृति सम्मेलन।
शाम 5.30 से शाम 8.30 तक -संगीत, प्रवचन, गुरु संदेश।

दिनांक 17 दिंसबर रविवार को सुबह 6 बजे से 7.30 बजे तक सामूहिक जाप, ध्यान, प्रज्ञा योग, व्यायाम, प्राणायाम।
प्रात: 8:30 से 1 बजे तक -108 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ एवं विभिन्न संस्कार।दोपहर 1.30 बजे से 3 बजे तक -महिला जागृति सम्मेलन।
दोपहर 3 बजे से 5 बजे तक विभिन्न संगठनों का सम्मेलन।
शाम 5.30 बजे से रात्रि 8.30बजे तक -संगीत, प्रवचन, सम्मान एवं संकल्प दीप महायज्ञ।

दिनांक 18 दिसंबर सोमवार को सुबह 6 बजे से 7.30 बजे तक सामूहिक जप, ध्यान, प्रज्ञा, योग, व्यायाम, प्राणायाम।
प्रात: 8.30 बजे से 2 बजे तक -गायत्री महायज्ञ, विभिन्न संस्कार, दीक्षा।
पूर्णाहुति, टोली की विदाई एवं प्रसाद वितरण।

यह भी पढ़ें:-सूर्य देव छूते हैं मां के पैर, श्री महामाया देवी के दर्शन मात्र से पूरी होती है मनोकामना!

टीप: 1- सभी संस्कार नि: शुल्क होंगे। (पुंसवन, नामकरण, मुंडन, अन्न प्राशन, विद्यारंभ, मंत्र दीक्षा, यज्ञोपवीत, विवाह)
2- गायत्री महायज्ञ स्थल में भव्य प्रदर्शनी, साहित्य स्टाल, संस्कार शाला, विचार मंच का लाभ उठाएं।

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!