एक नींबू के चार टुकड़े करके चुपचाप यहाँ फेंक दे इतना आयेगा पैसा की आप सभांल नही पाओगे :o

वैसे तो नींबू का प्रयोग टोने टोटके के लिए होते रहता है क्‍योंकि नींबू में ऐसी चमत्‍कारी शक्ति पाई जाती है जो किसी और वस्‍तु में नहीं होती। वहीं अगर लौंग की बात करें तो लौंग सबसे ज्‍यादा हनुमान जी को प्रिय होता है कलयुग में लौंग एक ऐसा उपाय है जिससे आप हनुमान जी को प्रसन्‍न कर सकते हैं। अगर वहीं हम नींबू और लौंग को मिलाकर एक उपाय करेंगे तो उसके बाद हमपर किसी भी तरह का संकट नहीं आएगा। नींबू व लौंग के कई ऐसे प्रयोगों के बारे में बताया

हनुमान जी की मूर्ति से इस तरह से कर सकते हैं अपने घर का वास्तुदोष दूर, जानें कैसे :o

हिन्दू धर्म में कई देवी-देवताओं की पूजा की जाती है, लेकिन कुछ देवता हैं, जिनकी पूजा सबसे ज्यादा की जाती है। हनुमान जी भी इन्ही में से एक हैं। हिन्दू धर्म में हनुमान जी को बाल ब्रह्मचारी के रूप में पूजा जाता है। इन्हें संकटमोचन, बाल ब्रह्मचारी, पवन पुत्र, आदि नामों से जाना जाता है। हनुमान जी की पूजा मंगलवार और शनिवार के दिन की जाती है। जो भक्त सच्चे मन से हनुमान जी की पूजा करते हैं, उनके जीवन में कोई कष्ट नहीं रह जाता है। हनुमान जी अपने भक्तों

इन दो रंगों के कपड़े पहनकर कभी ना करनी चाहिए पूजा, वर्ना रुष्ठ हो जाते हैं देव :o

पूजा-पाठ का महत्व तो सभी जानते हैं और लोग अपनी श्रद्धानुसार अपने इष्टदेव की पूजा-अर्चना करते भी हैं, पर बहुत से लोगों को पूजा से सम्बंधी जरूरी नियम नहीं पता होते हैं। दरअसल शास्त्रों में रोज की पूजापाठ में क्या किया जाना चाहिए और क्या नहीं, इससे जुड़े कई नियम बताए गए हैं जो कि अधिकांश लोगों को नहीं पता होते हैं, जबकि शास्त्रों की माने तो पूजा के दौरान विशेष सावधानी बरतनी चाहिए, अन्यथा आपके द्वारा की गई पूजा स्वीकार्य नहीं होती । आज हम आपको पूजा से सम्बंधी ऐसे

महिलाएं सिंदूर लगाते वक़्त रखें इन बातों का ध्यान नहीं तो पति के साथ हो सकता है ये भारी अमंगल :o

हिन्दू धर्म पूरी तरह से संस्कृति और परम्पराओं के ऊपर निर्भर है। हिन्दू धर्म में कई ऐसी प्राचीन परम्पराएँ हैं जो सदियों से चली आ रही हैं और जिनका पालन लोग आज भी करते हैं। कहा जाता है कि इन्ही प्राचीन परम्पराओं की वजह से भारत पूरी दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाये हुए हैं। हिन्दू धर्म की कुछ प्राचीन का वैज्ञानिक महत्व भी है। हालाँकि बहुत कम लोग ही हैं जो इसके वैज्ञानिक महत्वों के बारे में जानते हैं। ज्यादातर लोग इसे एक रुढ़िवादी परम्परा के तौर पर देखते

शास्त्रों के अनुसार इन आदतों से घटती हैं उम्र, विशेषकर शनिवार को भूलकर भी नहीं करना चाहिए ऐसा :o

विज्ञान के इस युग में हम भले ही धर्मग्रंथो के ज्ञान को भूला दें, पर वास्तव में ये आज भी हमारे लिए उतने ही हितकारी और महत्वपर्ण हैं जितने कि प्राचीन काल में थे। असल में साइंस के पास भले ही हमारी हर समस्या का समाधान है, लेकिन धर्म ग्रंथ और शास्त्र हमें वे मार्ग बताते हैं जिनका पालन कर हम ऐसी समस्याओं का सामना करने से बचे रह सकते हैं। आज तकनीकि रूप में हम भले ही दिन पर दिन प्रगति करते जा रहे हैं पर वास्तव में मनुष्य की

शिवपुराण में शिवजी ने स्वयं बताए हैं मौत के ये 10 संकेत, ये है अचूक, जान लीजिये तो भला :o

देवो के देव महादेव श्रृष्टि के संहारक और पालक दोनों हैं.. श्रृष्टि के संहारक के रूप में शिव, मृत्युलोक के देवता माने जाते है| भगवान शिव, पंच तत्वों में वायु के अधिपति माने गए है.. वहीं जब तक शरीर में वायु चलती है, तब तक शरीर में प्राण बने रहते हैं, लेकिन यही वायु जब क्रोधित होती है तो प्रलयकारी बन जाती हैं.. ऐसे में अगर भगवान शिव वायु का प्रवाह रोक दें तो वे किसी के भी प्राण ले सकते हैं। यानी भगवान शिव मृत्यु के कारक हैं.. शिवपुराण में

भूलकर भी नहीं सोना चाहिए इन तीन समयों में, स्वास्थ्य और धर्म दोनो ही दृष्टि से होता है हानिकारक :o

भूलकर भी ना सोएँ इन समयों में: सोना आख़िर किसे पसंद नहीं होता है। कुछ लोगों को तो सोना इतना ज़्यादा पसंद होता है कि वह दिन-रात बस सोना ही चाहते हैं, लेकिन आपको जानकार काफ़ी हैरानी होगी कि बिना समय के सोने से ना केवल आपके स्वास्थ्य को नुक़सान पहुँचता है, बल्कि यह धार्मिक दृष्टि से भी बहुत अशुभ माना जाता है। हिंदू धर्म के शास्त्रों के अनुसार जो व्यक्ति वर्जित किए गए समय में सोते हैं, उनके ऊपर देवी-देवताओं की कभी कृपा नहीं होती है।भविष्यपुराण के अनुसार जानें महत्वपूर्ण

प्रत्येक व्यक्ति को हरदिन करने चाहिए ये 5 काम, ऐसा करने से पूरे दिन मिलती है प्रसन्नता :o

हर दिन करें ये 5 काम: जीवन में अगर सबसे ज्यादा जरुरी चीज कोई है तो वह है खुश रहना। व्यक्ति को खुश रहने के लिए किसी चीज की जरुरत नहीं होती है। ख़ुशी अन्दर से आती है। अगर व्यक्ति अपने जीवन में अच्छे कर्म करता है तो उसे उसकी ख़ुशी होती है। बुरा कर्म करने वाले कभी भी खुश नहीं रह सकते हैं। हालाँकि ऐसे लोग हर समय खुश रहने का दिखावा जरुर करते हैं। जीवन में सच्ची ख़ुशी पानें के लिए आपको अच्छे कर्म करने की जरुरत होती है,

मां लक्ष्मी की कृपा चाहिए तो लगातार तीन शुक्रवार करें ये काम, होने लगेगी धन की बारिश :o

मां लक्ष्मी, धन की देवी कहलाती हैं, इसलिए मान्यता है कि इनकी पूजा के दरिद्रता दूर होती है और सुख-सौभाग्य की प्राप्ति होती है.. विशेषकर शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी की पूजा-अर्चना विशेष फलदायी होती है। शुक्रवार को मां लक्ष्मी की पूजा करने से घर में सुख-समृद्धी बनी रहती है। दरअसल हिंदू धर्म में सप्ताह के सभी सात दिन अलग-अलग देवी-देवताओं को समर्पित हैं.. जहां मगल को हनुमान भगवान और बुध को गणेश जी की पूजा आराधना की जाती है, वहीं शुक्रवार का दिन देवी लक्ष्मी की स्तुति की जाती

भारत का इकलौता हनुमान मंदिर जहाँ हनुमान जी के साथ होती है उनकी पत्नी की भी पूजा, जानिए :o

हिन्दू धर्म में हनुमान जी की पूजा बाल ब्रह्मचारी के रूप में की जाती है। लेकिन तेलंगाना में हनुमान जी के एक मंदिर में उनकी पत्नी सुवर्चला की भी पूजा की जाती है। यह मंदिर लोगों को सोचने पर मजबूर कर देता है कि क्या सच में हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी थे या नहीं। यहाँ भक्त पूरी श्रद्धा के साथ दोनों की पूजा करते हैं। हनुमान जी का यह मंदिर तेलंगाना के खम्मम जिले में स्थित है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हनुमान की का यह पूरे देश में

Top
error: Content is protected !!