उज्जैन में ऐसे आए महाकाल, पुजारी ने पुत्र की चिता की चढ़ाई थी भस्म, पढ़ें पूरी कथा

उज्जैन. भगवान शिव का प्रिय सावन माह। यह महीना हिंदू धर्म में काफी पवित्र माना गया है, इसलिए शास्त्रों में इस माह को धर्म-कर्म का माह कहा गया है। सावन माह में बाबा महाकाल की आराधना का अलग ही महत्व है। मप्र के उज्जैन में स्थित महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग देशभर में सिर्फ एक मात्र दक्षिणमुखी ज्योतिर्लिंग है। यह स्वयंभू ज्योतिर्लिंग कहा जाता है। इसी वजह से तंत्र क्रियाओं की दृष्टी से उज्जैन महाकालेश्वर मंदिर शुरु से ही खास रहा है। -शिवपुराण में बताई गई कथा के अनुसार अवंतिका राज्य के राजा वृषभसेन

1000 साल से नागदेेवता का वास है इस मंदिर में, भाग्यशाली ही कर पाते हैं दर्शन!

हमारे देश में नागों के कई मंदिर हैं, जिनमें से एक उज्जैन में नागचंद्रेश्वर है, जहां विदेशों से भक्त दर्शन करने आते हैं। विश्व प्रसिद्ध इस मंदिर में भगवान नाागदेवता साल में सिर्फ एक बार ही दर्शन देते हैं। साल 2018 की नाग पंचमी 15 अगस्त को रहेगी। इस दिन भगवान नागचंद्रेश्वर के मंदिर में देशविदेश से भक्त दर्शन करने पहुंचते हैं।11वीं शताब्दी की अद्भुत प्रतिमा के दर्शन के लिए श्रद्धालु नागचंद्रेश्वर मंदिर में आते हैं। मंदिर में फन फैलाए नाग के आसन पर शिव-पार्र्वती बैठी मुद्रा में दर्शन देते

पौराणिक रहस्य, इस मंदिर में आज भी आती है एक दिव्य आत्मा

सतना। वैसे तो भारत देश में ओर से छोर तक कहीं भी चमत्कारों की कमी नही है, लेकिन कुछ ऐसे भी रहस्य हैं जिनसे अब तक पर्दा नहीं उठ सका है। कोई इसे चमत्कार मानता है तो कोई दैविय शक्ति, तो कोई भक्ति का एक ऐसा उदाहरण जिसके बारे में सिर्फ किताबों में ही पढ़ने नही मिलता, बल्कि हर रोज साक्षात् देखने भी मिलता है। जी हां, आज यहां हम बात कर रहे हैं सतना के समीप ही स्थित सुप्रसिद्ध दैविय स्थान मैहर की, जो कि एक शक्तिपीठ के रूप

सांप के काटने पर ये 2 इलाज जरूर पढ़ ले.. ना जाने कब आपके काम आ जाए और जिंदगी बच जाए :o

साँप के काटने का इलाज जरूर पढ़ें, पता नहीं कब आपके काम आ जाए : दोस्तो सबसे पहले साँपो के बारे मे एक महत्वपूर्ण बात आप ये जान लीजिये । कि अपने देश भारत मे 550 किस्म के साँप है । जैसे एक cobra है ,viper है ,karit है । ऐसी 550 किस्म की साँपो की जातियाँ हैं । इनमे से मुश्किल से 10 साँप है जो जहरीले है सिर्फ 10 । बाकी सब non poisonous है। इसका मतलब ये हुआ 540 साँप ऐसे है जिनके काटने से आपको कुछ नहीं

21 वीं सदी की सबसे डराने वाली है यह भविष्यवाणी, खग्रास चंद्र ग्रहण पर इन उपायों को कर पाएं राहत

chandra grahan prediction on longest lunar eclipse 2018इस सदी का महासंयोग के साथ खग्रास चंद्रग्रहण 27 जुलाई 2018 को होगा। इसकी महत्ता यह भी है कि इस चंद्रग्रहण के पहले और बाद में 13 जुलाई और 11 अगस्त 2018 को दो खंडग्रास सूर्यग्रहण पड़ेंगे। इस साल में लगातार तीन ग्रहण होंगे, जिसको लेकर पूरी २१ वीं सदी की सबसे डराने वाली भविष्यवाणी बताई जा रही हैं। पंडित रमेश सेमवाल का कहना है कि आषाढ़ पूर्णिमा पर 27 जुलाई की रात खग्रास चंद्र ग्रहण होगा। यह ग्रहण काल चार घंटे तक

आपसी विश्वास ही गृहस्थी का मूल मंत्र है, पढ़ें यह सच्ची कहानी

स्वप्निल व्यास @ संत कबीर रोज सत्संग किया करते थे। दूर-दूर से लोग उनकी बात सुनने आते थे। एक दिन सत्संग खत्म होने पर भी एक आदमी बैठा ही रहा। कबीर ने इसका कारण पूछा तो वह बोला, ‘मुझे आपसे कुछ पूछना है। मैं गृहस्थ हूं, घर में सभी लोगों से मेरा झगड़ा होता रहता है। मैं जानना चाहता हूं कि मेरे यहां गृह क्लेश क्यों होता है और वह कैसे दूर हो सकता है?’      कबीर थोड़ी देर चुप रहे, फिर उन्होंने अपनी पत्नी से कहा, ‘लालटेन जलाकर लाओ’।

भय्यू जी महाराज के अनमोल वचन, वे दुनिया को खुद पर विजय पाने की यह सीख देते थे…

bhaiyyu maharaj

भय्यू महाराज ने मध्यप्रदेश के इंदौर में अपने घर में मंगलवार को गोली मारकर खुदकुशी कर ली। घटना के तत्काल बाद उन्हें इंदौर के ही बाम्बे हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने गहन परिक्षण कर बताया कि वे आधे घंटे पहले ही देह त्याग चुके हैं। देश संस्कृति , ज्ञान और सेवा की त्रिवेणी व्यक्तित्व को खो दिया, उनके विचार अनंत कालल तक समाज को मानवता की सेवा के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करेंगे।-हर एक कठिन मोड़ पर एक सच्चे गुरु की जरुरत होती हैं।-जिस युग में

भय्यू महाराज: लोगों को जिंदगी का पाठ पढ़ाने वाले संत ने कर ली खुदकुशी

इंदौर. भय्यू महाराज ने मध्यप्रदेश के इंदौर में अपने घर में मंगलवार को गोली मारकर खुदकुशी कर ली। घटना के तत्काल बाद उन्हें इंदौर के ही बाम्बे हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने गहन परिक्षण कर बताया कि वे आधे घंटे पहले ही देह त्याग चुके हैं। भय्यू महाराज ने अपनी दाहिनी कनपट्टी पर घर के ही बंद कमरे में खुद को गोली मार ली। जैसे ही गोली की आवाज आई तो सभी कमरे की ओर दौडक़र गए तब पता चला। उन्का अंतिम संस्कार बुधवार को किया जाना बताया जा रहा

भगवान श्रीकृष्ण जैसे पुत्र के लिए इस मंदिर में मां यशोदा देती हैं आशीर्वाद!

amazing story of goddess yashoda mata mandir indore madhya pradesh in hindi

amazing story of goddess yashoda mata mandir indore madhya pradesh in hindiइंदौर. पूरे देश में माता यशोदा का एकमात्र मंदिर हैं। जहां भगवान श्री कृष्ण जैसा पुत्र पाने के लिए महिलाएं माता यशोदा से आर्शीवाद लेने के लिए आती हैं। माता यशोदा के चमत्कारिक मंदिर में पूजन कर कई महिलाएं अपनी सूनी गोद भर चुकी हैं। इस मंदिर में मां यशोदा का चमत्कार 222 वर्षों से निरंतर जारी हैं। जी हां सच्चे मन से मन्नत मांगने पर माता यशोदा श्रीकृष्ण जैसे पुत्र से गोद भरने का आर्शीवाद देती हैं। हम

316 जोड़ों का हुआ विवाह : मुख्यमंत्री ने किया बारात का स्वागत

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मुख्य आतिथ्य में सीहोर जिले की नसरुल्लागंज तहसील मुख्यालय पर सामूहिक विवाह कार्यक्रम सम्पन्न हुआ, जिसमें मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजनांतर्गत 300 जोड़ों का विवाह तथा 16 जोड़ों का निकाह सम्पन्न हुआ। विवाह समारोह के दौरान 35 पात्र जोड़ों को मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना से लाभान्वित भी किया गया। सामूहिक विवाह कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने नव-दम्पत्तियों को उनके सुखमय वैवाहिक जीवन के लिये आशीर्वाद प्रदान किया और कहा कि राज्य सरकार द्वारा बेटियों/महिलाओं के कल्याण के लिये अनेक योजनाएँ संचालित की जा

Top
error: Content is protected !!