मोहिनी एकादशी व्रत से पायें एक हजार गौदान का फल

bhagwan ram mohini ekadasi vrat katha in hindi

वैशाख शुक्ल एकादशी को मोहिनी एकादशी कहा जाता है.. मान्यता है कि इस एकादशी के व्रत से व्रती मोह माया से ऊपर उठ जाता है और मोक्ष की प्राप्ति होती है... मान्यता है कि वैशाख शुक्ल एकादशी के दिन ही भगवान विष्णु ने मोहिनी का रूप धारण किया था..भगवान विष्णु ने सुमुद्र मंथन के दौरान प्राप्त हुए अमृत को देवताओं में वितरीत करने के लिये मोहिनी का रूप धारण किया था... कहा जाता है कि जब समुद्र मंथन हुआ तो अमृत प्राप्ति के बाद देवताओं व असुरों में आपाधापी मच

कुंडली के योग से बनाये जीवन में संतुलन 

गुरु से बनने वाला योग गजकेसरी योग gajkesari-yog-hindi

आज के आधुनिक दौर में किसी भी व्यक्ति को सभी क्षेत्र में माहिर होना जरूरी है। व्यक्ति के जीवन में संतुलन होना चाहिए। व्यक्तित्व के संतुलन से हमारा अभिप्राय मनुष्य के सर्वागीण विकास से है। ऐसे व्यक्ति जीवन के पग.पग पर आने वाली कठिनाइयोंए प्रतिकूलताओं से सरलता एवं आसानी से बाहर आ सकता और जब जैसी जरूरत हो वैसा कार्य व व्यवहार करने में सक्षम होता है। संतुलित व्यक्तित्व में आन्तरिक संघर्ष नहीं आतेए ऐसे प्रतिद्वन्द्वी विचार उदित नहीं होते जिससे निर्णय शक्ति का ह्रास हो।संतुलित व्यक्ति आनन्दए जोशए उल्लास

सीता नवमी 2018: सीता नवमी व्रत से पाएं सौभाग्य का वरदान

शास्त्रों के अनुसार वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की नवमी के दिन पुष्य नक्षत्र में जब महाराजा जनक संतान प्राप्ति की कामना से यज्ञ की भूमि तैयार करने के लिए हल से भूमि जोत रहे थे, उसी समय पृथ्वी से एक बालिका का प्राकट्य हुआ.. जोती हुई भूमि को तथा हल की नोक को भी सीत कहा जाता है, इसलिए बालिका का नाम सीता रखा गया।इस दिन वैष्णव संप्रदाय के भक्त माता सीता के निमित्त व्रत रखते हैं और पूजन करते हैं। मान्यता है कि जो भी इस दिन व्रत

इस बार अक्षय तिथि नहीं है अक्षय!

अक्षय तृतीया भागवत अवतार की तिथि होने से विशेष होती है इसी अक्षय पुण्यतिथि को भगवान ब्रम्हर्षि परशुराम का अवतार हुआ था अक्षय तृतीया युगादि तिथि होने के कारण परम पुनीत हैइस वर्ष अंग्रेजी तारीख के अनुसार 18 अप्रैल 2018 दिन बुधवार को सूर्योदय से लेकर रात्रि एक बज कर 30 मिनट तक तृतीया तिथि रहेगी बुधवार को कृतिका नक्षत्र सूर्योदय से रात्रि 12रू00 बज कर 28 मिनट तक रहेगा व्यापार के लिए कृतिका नक्षत्र अशुभ है उदय काल से लेकर 5रू15 संध्या तक आयुष्मान योग व्याप्त रहेगा इसके पश्चात

सोमवती अमावस्या: पांडव जीवनभर तरसे इस महासंयोग के लिए, आज इस 1 मंत्र का जाप करें होगी धन वर्षा

somvati amavasya 2017 date in hindi

साल में एक बार सोमवार को पडऩे वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहते हैं। इस साल आज यानी 15 अप्रैल सुबह 8.37 से 16 अप्रैल 07.27 बजे तक अमवस्या है। इस दिन के महासंयोग के लिए पांडव जीवनभर तरसे थे। आज के दिन कुछ जरूरी उपाय कर लेने से पुण्य प्राप्त किया जा सकता हैं। ग्रंथों में बताया गया हैं कि सोमवार को अमावस्या बड़े भाग्य से आती हैं। पांडव पूरे जीवन तरसते रहे थे, लेकिन सोमवार को सोमवती अमावस्या नहीं आई थी। आज के दिन नदियों तीर्थों में स्नान, गोदान,

श्रीविष्णु अवतार परशुराम अक्षय तृतीया को जन्मे, इसलिए उनकी शस्त्र शक्ति अक्षय थी

rama ekadashi 2017, rama ekadashi importance

इस बार रामनवमी की भांति अक्षय तृतीया भी भागवत अवतार की तिथि होने से विशेष होती है इसी अक्षय पुण्यतिथि को भगवान ब्रम्हर्षि परशुराम का अवतार हुआ था अक्षय तृतीया युगादि तिथि होने के कारण परम पुनीत है इस वर्ष अंग्रेजी तारीख के अनुसार 18 अप्रैल 2018 दिन बुधवार को सूर्योदय से लेकर रात्रि एक बज कर 30 मिनट तक तृतीया तिथि रहेगी बुधवार को कृतिका नक्षत्र सूर्योदय से रात्रि 12:00 बज कर 28 मिनट तक रहेगा व्यापार के लिए कृतिका नक्षत्र अशुभ है उदय काल से लेकर 5:15 संध्या तक

शनिवार को कीजिए यह टोटके, बदलेगी किस्मत, देखते ही देखते खत्म हो जाएगा बुरा समय

शनि दोष के लक्षण,

कुछ ही समय में अगर कोई व्यक्ति को देखते ही देखते अमीर बन जाए तो हम कहते हैं कि इसके तो वारे-न्यारे हो गए हैं और हम भी उसके जैसी सफलता पाना चाहते हैं। ज्योतिषियों के अनुसार अगर कुंडली में शनि, राहु-केतु के दोष दूर हो जाएं तो ऐसा संभव हैं। शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार का दिन सबसे शुभ माना गया हैं। इस दिन अगर हनुमानजी की भी पूजन की जाए तो शनि के साथ राहु-केतु भी आसानी से शांत हो जाते हैं। शनिदेव की कृपा प्राप्त

हनुमान जन्मोत्सव: हनुमान जी की कृपा कैसे पायें ? और हनुमानजी को लेकर फैली कुछ भ्रांतियां?

miraculous temple of hanuman in india

हनुमान जी की कृपा आसानी से पाई जा सकती है .. अपने मन में शांति, पवित्रता, ब्रह्मचर्य, एकाग्रता, निष्ठा और भक्ति का भाव रखेंगे तो भगवान हनुमान जी की कृपा जरूर प्राप्त होगी... कलिकाल में बहुत सारे भ्रम फैले हुए हैं जैसे हनुमान जी की पूजा स्त्रियां नहीं कर सकती.. किन्तु भगवान लिंग से परे होते हैं ... हनुमानजी की पूजा कोई भी कर सकता है ... सभी स्त्री पुरुष बच्चे हनुमान जी का मंत्र-जाप, पूजा-पाठ व्रत कर सकते हैं इसमें कोई भी हानि किसी की भी नहीं हो सकती

क्यों हो जाता है प्रेम विवाह के बाद प्रेम गायब

kundalini yoga for friendship in hindi

हमारे समाज में आधुनिकता चाहे कितनी भी जड़े जमा चुकी हो पर हम आज भी प्रेम विवाह को खुले मन से स्वीकार नहीं पाते ये अलग बात है कि हमारे पुरातन काल में गंर्धव विवाह होता था जिसे आधुनिक काल में प्रेमविवाह का नाम दिया जाता है। जब भी कोई अपनी पसंद रखता तब वह प्रेम करता है। जब प्रेम होता है तो विवाह भी तमाम विरोध के बावजूद करता है किंतु कुछ समय के बाद ही आपस में ही मतभेद दिखाई देते हैं।ज्योतिषीय रूप देखा जाए तो प्रेम करने

अप्रैल 2018 : इस माह के यह हैं प्रमुख व्रत, पर्व और त्योहार

hindu tyohar list 2018 in hindi,

(hindu festivals calendar 2017 in hindi festivals in the month of april vrat tyohar)साल 2018 का चौथे माह अप्रैल (april 2018 festival) में कई उत्सव, व्रत, पर्व और त्योहार हैं। हमें पहले से ही व्रत, पर्व और त्योहारों के बारे में जानकारी मिल जाए तो हम पहले से ही तैयारियां कर सकते हैं। इसके साथ ही हम अपने ईष्ठ देव की पूजन हम पूर्व विधि विधान से कर सकते हैं। कुछ इसी तरह की बातों को ध्यान में रखते हुए धर्म कथाएं डॉट कॉम  ( http://dharmakathayen.com ) आपको बताने जा

Top
error: Content is protected !!