Partial solar eclipse 2018 साल का पहला सूर्य ग्रहण, सूतक काल में इन कामों से बचें वरना आ जाएगी आफत

grahan kaise hota hai in hindi, chandra grahan kab hota hai,

surya grahan 2018 dates and time, surya grahan , surya grahan 2018 dates and time in india in hindi,गुरवार 15 फरवरी 2018 को आधी रात के बाद से सूर्य ग्रहण शुरु हो जाएगा। यह 2018 का पहला सूर्य ग्रहण होगा। अभी 31 जनवरी को ही चंद्र ग्रहण लगा था और भारत में इसे देखा गया था। अब सूर्य ग्रहण ने दस्तक दे दी है। लेकिन सूर्य ग्रहण अर्जेटीना, चिली, पैराग्वे और उरुग्वे में ही देखा जा सकेगा। वहीं भारत के लोग NASA की वेबसाइट पर सूर्य ग्रहण को लाइव देख

ये 10 बातें हों तो समझ लीजिए आप पर प्रसन्न होने वाली है धन की देवी लक्ष्मी

how to impress goddess lakshmi

(how to please goddess lakshmi)ज्योतिष शास्त्र में शकुन-अपशकुन के बारे में जानकर हम भविष्य के बारे में पता लगा सकते हैं। इनकी मदद से भविष्य में होने वाली अच्छी-बुरी बातें पता हो सकती हैं। किसी व्यक्ति की धन संबंधी मनोकामनाएं हम नीचे दिए गए संकेतों के अनुसार समझ सकते हैं। जानिए लक्ष्मी की कृपा से जुड़ी 10 शुभ संकते यानी शकुन...-यदि किसी व्यक्ति के सपनों में बार-बार पानी, हरियाली, लक्ष्मीजी का वाहन, उल्लू दिखाई देने लगे तो समझ लेना चाहिए कि कुछ समय बाद धन संबंधी परेशानियां दूर होने वाली

महाशिवरात्रि

sawan somvar mahakaleshwar jyotirlinga temple ujjain

भगवान शिव को यूं तो प्रलय का देवता और काफी गुस्से वाला देव माना जाता है. लेकिन जिस तरह से नारियल बाहर से बेहद सख्त और अंदर से बेहद कोमल होता है उसी तरह शिव शंकर भी प्रलय के देवता के साथ भोले नाथ भी है. वह थोड़ी सी भक्ति से भी बहुत खुश हो जाते हैं फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को शिवरात्रि पर्व मनाया जाता है. माना जाता है कि सृष्टि के प्रारंभ में इसी दिन मध्यरात्रि भगवान शंकर का ब्रह्मा से रुद्र के रूप में अवतरण हुआ था. महाशिवरात्रि का

शिव देंगे सिद्धि, सिद्धि योग की महाशिवरात्रि 13 को

somvar ko shiva ji ki puja abhishekam

ज्योतिषाचार्य डॉ.दत्तात्रेय होस्केरे @ शिव महिम्न: स्त्रोत्र में प्रश्न है, “ तव तत्वं न जानामि, की दृषोसि महेश्वर:” अर्थात आप कैसे दिखते हैं शिव? हम आपका स्वरूप नही जानते। स्वयं शिव इस प्रश्न का उत्तर इस तरह देते हैं: “ या दृषोसि महादेव तादृषाय नमो नम:” अर्थात “मैने आपको दृष्टि दी है आप जिसमें तरह, जिसमें स्वरूप में मुझे देखना चाहते हैं देख लिजिये”।सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज लाइक करें-  https://www.facebook.com/DharmKathayen/ 13 और 14 दोनों तारीख को मनाई जायेगी शिवरात्रि लेकिन 13 तारीख है श्रेष्ठशास्त्रों में शिवरात्री को त्रि

महाशिवरात्रि पर महाकाल के अंश भैरव बाबा पूजन, प्रसन्न होकर बाबा निकाल लाते हैं मौत के मुंह से

amazing Bhairavnath in rajrajeshwari maa mahamaya devi mandir raipur

(amazing Bhairavnath in rajrajeshwari maa mahamaya devi mandir raipur chhattisgarh)रायपुर. छत्तीसगढ़ के रायपुर में महामाया देवी के मंदिर में दो भैरव बाबा जागृत अवस्था में हैं। महाशिवरात्रि पर भैरव बाबा की पूजन भगवान महाकाल के अंश के रुप में की जाती हैं। मां महामाया देवी मंदिर में जागृत अवस्था में विराजे भैरवनाथा भगवान तुरंत परिणाम देते हैं। यहां के चमत्कार दशकों से मश्हूर रहे हैं। मां महामाया देवी मंदिर में प्रवेश के दौरान दोनों ओर काल भैरवनाथ बाबा और बटुक भैरवनाथ बाबा विराजमान हैं।सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज

सूर्य देव देतें है अभिमान

ravivar surya bhagwan ki puja vidhi, niyam or mahatva hindi me

प्रातः हर मनुष्य में अपने को बड़ा मानने की प्रवृत्ति सहज ही होती है और यह प्रवृत्ति बुरी भी नहीं है। किंतु अकसर अहं स्वयं को सही और दूसरो को गलत साबित करता है। आत्मसम्मान और स्वाभिमान के बीच बारीक रेखा होती है जिसमें अहंकार का कब समावेश होता है पता भी नहीं चलता। कोई कितना भी योग्य हो यदि वह अपनी योग्यता का स्वयं मूल्यांकन करता है तो आदर का पात्र नहीं बन पाता अतः बड़ा बनकर आदर का पात्र बनने हेतु अहंकार का त्याग जरूरी है। अहंकार का

समृधि से हैं वंचित, तो करें अन्नदान

benefits of food donation in hindi

            समृधि की चाह सभी को होती है किन्तु पाते कुछ लोग ही हैं. कोई जीवन में सभी सुखो को भोगता है तो कुछ लोग प्लान ही करते रहते हैं की इस बार ये खरीदेंगे तो अगली बार वो. कभी धन की कमी तो कभी अचानक आ गए खर्च पुरे प्लान को ख़राब भी कर देता है.इसलिए प्लान करने के साथ ही सुख और समृधि की कामना से कुछ ज्योतिष उपाय अपनी कुंडली के अनुसार भी कर लेना चाहिए और कुंडली दिखाना सम्भव ना हो हमारे शास्त्रों में कुछ महत्वपूर्ण

पँ कपिल शर्मा जी ‘काशी’ से जानिए महाशिवरात्रि निर्णय, 13 को मनाएं या 14 को

pandit kapil sharma.jpg

सनातन धर्म में महाशिवरात्रि का विशेष महत्व प्रतिपादित है। भगवान शिव की आराधना का यह विशेष पर्व माना जाता है। पौराणिक तथ्यानुसार आज ही के दिन भगवान शिव की लिंग रूप में उत्पत्ति हुई थी। प्रमाणान्तर से इसी दिन भगवान शिव का देवी पार्वती से विवाह हुआ है। अतः सनातन धर्मावलम्बियों द्वारा यह व्रत एवं उत्सव दोनों में अति हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। वैसे तो सम्पूर्ण भारतवर्ष में इसकी महिमा प्रथित है वैसे तो प्रतिवर्ष शिवरात्रि पर्व मनाया जाता है परन्तु इस वर्ष कुछ पंंचांगकारोंं एवं धर्माधिकारियों के द्वारा

खुश रहना भी है ग्रहों का संयोग

hindu mantra for love and happiness

इंसान की खुशी का का मापदण्ड अलग अलग होता है .. किसी को महंगी चीजों से खुशी मिलती है, किसी को घूम फिर कर, तो किसी को दूसरों की मदद कर खुशी मिलती है. मतलब ये कि हर एक की खुशी का पैमाना अलग है. एक बात तय है कि खुशी का ताल्लुक दिल से है. यदि हम अपने अंदर झांक कर देखें तो खुशियां अवश्य मिल जाएगी। खुश रहने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है नकारात्मक सोच को दूर करके सकारात्मक विचारों को अपने पास रखें। सकारात्मक विचारों से

जानिए महाशिवरात्रि कब है, महानिशीथकाल के फेर में इस दिन मनाएंगे महाशिवरात्रि पर्व

maha-shivaratri-photo-

maha shivratri 2018 date and time in indiaउज्जैन. महाशिवरात्रि भारत के प्रमुख पर्वों में से एक है, जिसे देशभर में बहुत ही उत्साह और प्रसन्नता के साथ भगवान शिव यानी महाकालेश्वर की आराधना करकेे मनाया जाता है। इस पर्व के पीछे मुख्यत: दो मान्यताएं बताई जाती हैं, पहली सृष्टि का आरंभ इसी दिन हुआ था और दूसरी इस दिन भगवान शिव का विवाह माता पार्वती से हुआ था। महिलाओं के लिए शिवरात्रि का विशेष महत्व है। अविवाहित महिलाएं भगवान शिव से प्रार्थना करती हैं, कि उन्हें उनके जैसा ही पति

Top
error: Content is protected !!