दोस्त बनाये कुंडली दिखाकर

kundalini yoga for friendship in hindi

जीवन के सारे महत्वपूर्ण रिश्ते जन्म से मिलते हैं जो हमारे हाथ में नहीं होते है लेकिन जीवन का सबसे महत्वपूर्ण और करीबी रिश्ता जो हम बनाते हैं वह दोस्ती का रिश्ता होता है यह रिश्ता कब और किससे बनेगा यह कोई भी नहीं जानता। प्रेम, विश्वास और आपसी समझदारी के इस रिश्ते को दोस्ती कहते हैं. दोस्ती का रिश्ता जात-पांत, लिंग भेद तथा देशकाल की सीमाओं को नहीं जानता। भारत में तो प्राचीन सभ्यता से ही दोस्ती की कई मिसालें देखने को मिलती हैं। राम जी ने दोस्ती के

अभिमान है बुरा, देता है ग्रह दोष

horoscope today astrology prediction in hindi, aaj ka rashifal

दूसरों में बुराई ढूंढने की अपेक्षा उनकी अच्छाइयों पर ध्यान देना चाहिए, जो लोग दूसरों के बुराई देखते हैं, उनमें अहंकार बढ़ता है। ऐसे लोगों में क्रोध और घृणा बढ़ती है और वे खुद को सबसे अच्छा समझने लगते हैं। हमेशा लोगो की बुराइयां या कमियों को नजरअंदाज करके उसकी अच्छाइयों को देखना चाहिए, क्योंकि उनकी अच्छाइयों को देखकर ही हम अपने आप को और अच्छा बना सकते है।सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज लाइक करें-  https://www.facebook.com/DharmKathayen/ जन्म से न कोई मनुष्य अच्छा होता है न बुरा, किन्तु उसका

शनि से डर कैसा

interesting facts about shani dev

शनि के बारे में अनेक भ्रान्तियां हैं और हमारे यहाँ तो लोग शनि का नाम सुनते ही डर जाते हैं शनि दशा या शनि की ढैया या साढ़ेसाती तो नाम से ही बदनाम है. शनि को मारक, अशुभ और दुख कारक माना जाता है।पाश्चात्य ज्योतिषी भी उसे दुख देने वाला मानते हैं। लेकिन शनि उतना अशुभ और मारक नही है, जितना उसे माना जाता है। ज्योतिष में शनि दसम और एकादश स्थान का स्वामी ग्रह है. शनि कर्म और लाभ का कारक है. मोक्ष देने वाला एक मात्र ग्रह शनि ही है।सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए

सूर्य ग्रहण की पौराणिक कथा, जब इस 1 बात पर क्रोधित हो गए थे भगवान विष्णु

surya grahan pauranik katha in hindi

surya grahan 2018 dates and time, surya grahan , surya grahan 2018 dates and time in india in hindi,गुरवार 15 फरवरी 2018 को आधी रात के बाद से सूर्य ग्रहण शुरु हो जाएगा। यह 2018 का पहला सूर्य ग्रहण होगा। अभी 31 जनवरी को ही चंद्र ग्रहण लगा था और भारत में इसे देखा गया था। अब सूर्य ग्रहण ने दस्तक दे दी है। लेकिन सूर्य ग्रहण अर्जेटीना, चिली, पैराग्वे और उरुग्वे में ही देखा जा सकेगा। वहीं भारत के लोग NASA की वेबसाइट पर सूर्य ग्रहण को लाइव देख

Partial solar eclipse 2018 साल का पहला सूर्य ग्रहण, सूतक काल में इन कामों से बचें वरना आ जाएगी आफत

grahan kaise hota hai in hindi, chandra grahan kab hota hai,

surya grahan 2018 dates and time, surya grahan , surya grahan 2018 dates and time in india in hindi,गुरवार 15 फरवरी 2018 को आधी रात के बाद से सूर्य ग्रहण शुरु हो जाएगा। यह 2018 का पहला सूर्य ग्रहण होगा। अभी 31 जनवरी को ही चंद्र ग्रहण लगा था और भारत में इसे देखा गया था। अब सूर्य ग्रहण ने दस्तक दे दी है। लेकिन सूर्य ग्रहण अर्जेटीना, चिली, पैराग्वे और उरुग्वे में ही देखा जा सकेगा। वहीं भारत के लोग NASA की वेबसाइट पर सूर्य ग्रहण को लाइव देख

ये 10 बातें हों तो समझ लीजिए आप पर प्रसन्न होने वाली है धन की देवी लक्ष्मी

how to impress goddess lakshmi

(how to please goddess lakshmi)ज्योतिष शास्त्र में शकुन-अपशकुन के बारे में जानकर हम भविष्य के बारे में पता लगा सकते हैं। इनकी मदद से भविष्य में होने वाली अच्छी-बुरी बातें पता हो सकती हैं। किसी व्यक्ति की धन संबंधी मनोकामनाएं हम नीचे दिए गए संकेतों के अनुसार समझ सकते हैं। जानिए लक्ष्मी की कृपा से जुड़ी 10 शुभ संकते यानी शकुन...-यदि किसी व्यक्ति के सपनों में बार-बार पानी, हरियाली, लक्ष्मीजी का वाहन, उल्लू दिखाई देने लगे तो समझ लेना चाहिए कि कुछ समय बाद धन संबंधी परेशानियां दूर होने वाली

महाशिवरात्रि

sawan somvar mahakaleshwar jyotirlinga temple ujjain

भगवान शिव को यूं तो प्रलय का देवता और काफी गुस्से वाला देव माना जाता है. लेकिन जिस तरह से नारियल बाहर से बेहद सख्त और अंदर से बेहद कोमल होता है उसी तरह शिव शंकर भी प्रलय के देवता के साथ भोले नाथ भी है. वह थोड़ी सी भक्ति से भी बहुत खुश हो जाते हैं फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को शिवरात्रि पर्व मनाया जाता है. माना जाता है कि सृष्टि के प्रारंभ में इसी दिन मध्यरात्रि भगवान शंकर का ब्रह्मा से रुद्र के रूप में अवतरण हुआ था. महाशिवरात्रि का

शिव देंगे सिद्धि, सिद्धि योग की महाशिवरात्रि 13 को

somvar ko shiva ji ki puja abhishekam

ज्योतिषाचार्य डॉ.दत्तात्रेय होस्केरे @ शिव महिम्न: स्त्रोत्र में प्रश्न है, “ तव तत्वं न जानामि, की दृषोसि महेश्वर:” अर्थात आप कैसे दिखते हैं शिव? हम आपका स्वरूप नही जानते। स्वयं शिव इस प्रश्न का उत्तर इस तरह देते हैं: “ या दृषोसि महादेव तादृषाय नमो नम:” अर्थात “मैने आपको दृष्टि दी है आप जिसमें तरह, जिसमें स्वरूप में मुझे देखना चाहते हैं देख लिजिये”।सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज लाइक करें-  https://www.facebook.com/DharmKathayen/ 13 और 14 दोनों तारीख को मनाई जायेगी शिवरात्रि लेकिन 13 तारीख है श्रेष्ठशास्त्रों में शिवरात्री को त्रि

महाशिवरात्रि पर महाकाल के अंश भैरव बाबा पूजन, प्रसन्न होकर बाबा निकाल लाते हैं मौत के मुंह से

amazing Bhairavnath in rajrajeshwari maa mahamaya devi mandir raipur

(amazing Bhairavnath in rajrajeshwari maa mahamaya devi mandir raipur chhattisgarh)रायपुर. छत्तीसगढ़ के रायपुर में महामाया देवी के मंदिर में दो भैरव बाबा जागृत अवस्था में हैं। महाशिवरात्रि पर भैरव बाबा की पूजन भगवान महाकाल के अंश के रुप में की जाती हैं। मां महामाया देवी मंदिर में जागृत अवस्था में विराजे भैरवनाथा भगवान तुरंत परिणाम देते हैं। यहां के चमत्कार दशकों से मश्हूर रहे हैं। मां महामाया देवी मंदिर में प्रवेश के दौरान दोनों ओर काल भैरवनाथ बाबा और बटुक भैरवनाथ बाबा विराजमान हैं।सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज

सूर्य देव देतें है अभिमान

ravivar surya bhagwan ki puja vidhi, niyam or mahatva hindi me

प्रातः हर मनुष्य में अपने को बड़ा मानने की प्रवृत्ति सहज ही होती है और यह प्रवृत्ति बुरी भी नहीं है। किंतु अकसर अहं स्वयं को सही और दूसरो को गलत साबित करता है। आत्मसम्मान और स्वाभिमान के बीच बारीक रेखा होती है जिसमें अहंकार का कब समावेश होता है पता भी नहीं चलता। कोई कितना भी योग्य हो यदि वह अपनी योग्यता का स्वयं मूल्यांकन करता है तो आदर का पात्र नहीं बन पाता अतः बड़ा बनकर आदर का पात्र बनने हेतु अहंकार का त्याग जरूरी है। अहंकार का

Top
error: Content is protected !!