क्या हज के हक में है सब्सिडी का खत्म हो जाना

haj subsidy in hindi

centre ends haj subsidy as part of policy to empower minorities without appeasementहज मुसलमानों के पांच मूलभूत कर्तव्यों में शामिल है। बचपन से ही उसके मन की गहराइयों में यह पैठ जाता है कि कैसे भी हो एक बार उसे पवित्र शहर की यात्रा कर उस आध्यात्मिकता को महसूस करना है, जो पूरे दीन को रोशनी दे रही है। हालांकि बाकी कर्तव्यों के मुकाबले हज सिर्फ उन मुसलमानों के लिए कर्तव्य है, जो इसे कर सकते हैं। यानी जो हज के लिए शारीरिक और आर्थिक रूप से सक्षम हैं। सब्सिडी

रायपुर:अमन-इंसानियत का त्यौहार है ईद-ए-मिलाद: डॉ. रमन सिंह, मुख्यमंत्री और राज्यपाल ने दी बधाई

Amazing oscar fish stomach written muhammad after allah in ramadan

(eid e milad un nabi 2017 images wishes greetings in hindi know why muslim celebrates eid e milad un nabi 2017 history and importance)रायपुर. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल 2 दिसंबर को ‘ईद-ए-मिलाद’ के अवसर पर मुस्लिम समाज सहित प्रदेशवासियों के लिए दिली मुबारकबाद पेश की है। उन्होंने कहा-यह अमन और इंसानियत का त्यौहार है। डॉ. सिंह ने ईद-ए-मिलाद (मिलाद-उन-नबी) की पूर्व संध्या पर आज यहां जारी शुभकामना संदेश में कहा-इस्लाम धर्म के संस्थापक पैगम्बर हजरत मोहम्मद साहब की जयंती पर यह त्यौहार हर साल पूरी दुनिया के लिए

अंग्रेजों को दिखाया था अस्पताल वाले बाबा ने चमत्कार, यहां पूरी होती है सबकी मुरादें

Amazing Story Of Aspatal Wale Baba Raipur Chhattisgarh

(Chamatkari Aspatal Wale Baba Ki dargah Raipur Chhattisgarh)रायपुर. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पुराने डीके अस्पताल परिसर में अंग्रेजों की जमाने की चमत्कारिक अस्पताल वाले बाबा की दरगाह हैं। बाबा ने यहां अंग्रेजों को अपना चमत्कार बताया था।बाबा के चमत्कार के आगे अंग्रेजों को झूकना पड़ा था। तब से हजरत सैयद बंदे अली शाह उर्फ अस्पताल वाले बाबा की दरगाह पर मुरादें मांगने वालों का तांता लगा रहता हैं। यहां छत्तीसगढ़ ही नहीं बल्कि देशभर के कई जगहों से लोग अपनी मुराद लेकर आते हैं। बाबा की दरगाह पर श्रद्धालु

Bakrid2017: जानें क्यों मनाते हैं बकरीद, बकरे की कुर्बानी के लिए अल्लाह ने बताई इस्लाम की यह बातें

Bakra Eid 2017

(bakrid eid al adha festival significance history and celebration)इस्लाम धर्म के खास त्योहार ईद की तैयारियां जोरों पर हैं। साल में दो तरह की ईद मनाई जाती हैं। एक मीठी ईद यानी ईद उल फितर और दूसरी बकरीद यानी ईद उल जुहा। एक ईद समाज में मिठास घोलने का प्रतिक हैं तो दूसरी ईद अपने कर्तव्य के प्रति जिम्मेदारी का सबक सिखाती हैं। भारत में इस साल 2 सितंबर को ईद-उल-जुहा (बकरीद) मनाई जाना तय हैं। इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार ईद-उल-जुहा 12 वें महीने धू अल-हिज्जा के दसवें दिन मनाई

शिर्डी वाले साईं बाबा के यह है ११ वचन, अमल करें होंगे चौंकाने वाले चमत्कार!

sai baba ki sachchi kahani hindi

शिर्डी. सांई बाबा के चमत्कार की कई कथाएं प्रचलित हैं। लेकिन आज भी भक्तों के बीच मतभेद हैं, कि शिर्डी वाले सांई बाबा हिंदू थे या मुसलमान थे। लेकिन यह सच है कि वे एक फकीर जरुर थे। बाबा का व्यवहार कभी भी धर्म के आधार पर नहीं देखा गया। उन्होंने हमेशा न्याय और इंसानियत की शिक्षाएं दी जो आज भी हमारे जीवन में महत्वपूर्ण सीख के रुप में हम शामिल कर सकते हैं। सांई बाबा की कुछ शिक्षाओं पर आज हम नजर डालते हैं।(adsbygoogle

मुस्लिम धर्म: तीन तलाक के कुरान में यह मायने, ऐसा है देश का कानून!

amazing facts of triple talaq issue in hindi

तीन तलाक में दखल देने वालों को यह खबर पढऩी चाहिए। भारतीय मुसलमानों के जीवन में कुरान की सर्वोच्चता के बीच मामला सुप्रीम कोर्ट में है। इस दौरान एक मैसेज सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इसके लेखक का नाम असद निजामी, लेख के नीचे लिखा हुआ है। तो आइए पढ़ते हैं, इस मैसेज को, जिसमें कुरआन में तीन तलाक के क्या मायने बताया गए और क्या कहता है देश का कानून... जनाब असद निजामी साहब ने तलाक पर जो खुलासा किया है वाकई पढ़ने लायक है, आप

यहां माथा टेकने से सफल होता है वैवाहिक जीवन, पढि़ए सच्ची कथा

amazing bandi chod baba ki-dargah-dhar-mp

धार. मध्यप्रदेश के धार में एक ऐसा धार्मिक स्थान है, जहां वैवाहिक जीवन की सफलता के लिए दूर-दूर से लोग माथा टेकने आते हैं। यहां सिर्फ एक बार सिर झुकाने से जीवनभर पति-पत्नी खुशहाल जीवन जीते हैं। हम बात कर रहे हैं हिंदू-मुस्लिम एकता के प्रतिक माने जाने वाले बंदी छोड़ बाबा की दरगाह की। यहां देशभर से सभी धर्मों के लोग परिवार की खुशहाली के लिए आर्शीवाद लेने के लिए आते है। कई बार विदेशी सैलानियों को यहां के चमत्कार का पता लगा तो वे भी बड़ी आस्था के साथ

CM योगी ने मुस्लिमों को ऐसे किया राम मंदिर के लिए राजी!

ayodhya me ram mandir ka nirman ke liye muslim tayyar

लखनऊ. उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर निर्माण के लिए मुसलमानों को राजी कर लिया है। बाबरी मस्जिद का दावा करने वाले मुस्लिम राम मंदिर बनवाने के लिए आगे आने की पहल कर रहे है। जी हां, सीएम योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में बयान दिया था, कि अयोध्या के मुस्लिम भी राम मंदिर निर्माण के लिए सहमत है। दरअसल यह बात बिलकुल सच है। अयोध्या के मुस्लिम समुदाय के लोग भी नहीं चाहते हैं, कि किसी प्रकार का विवाद हो।(adsbygoogle = window.adsbygoogle

पासपोर्ट बाबा का चमत्कार, एक अर्जी दो और पाओ विदेश में जॉब

true story of passport baba jamshedpur

जमशेदपुर. देशभर के कई हिस्सों से पासपोर्ट बाबा की दरगाह पर मुराद पूरी करने की अर्जी आती है। जमशेदपुर के कालूबागान एरिया में सूफी संत हजरत मिस्कीन शाह की मजार है।यहां विदेश में करियर, नौकरी, घर, परिवार आदि की अर्जियां देकर लोग मन्नत मांगते हैं और वे चमत्कारी रूप से पूरी होती हैं। इसीलिए बाबा का नाम भी पासपोर्ट नाम से लिया जाने लगा। जो लोग विदेश जाने की तमन्ना लिए सालों से प्रयास कर रहे हैं, वे पासपोर्ट बाबा के दरबार में पासपोर्ट की एक प्रति लेकर आते हैं,

रमजान के पाक माह में अल्लाह और मुहम्मद का चमत्कार

Amazing oscar fish stomach written muhammad after allah in ramadan

झांसी. पाक माह रमजान में अल्लाह के अनोखे चमत्कार देखने को मिल रहे हैं। झांसी के प्रतापपुरा में एक मछली मुस्लिम समाज के लोगों को करिश्मे के रूप में नजर आ रही है। कुछ लोग इसे रमजान के पवित्र महीने में अल्लाह और मुहम्मद का चमत्कार बता रहे हैं।दरअसल झांसी के प्रतापुरा में रहने वाले दवा कारोबारी राजेंद्र कुमार परसेरिया ने करीब 21 मछलियां खरीदी थीं। इनमें से 20 मछलियां सामान्य खरीदी और एक विशेष ऑस्कर प्रजाति की मछली ली थी। ऑस्कर प्रजाति की मछली के साथ ही बाकी मछलियों

Top
error: Content is protected !!