वसंत पंचमी पर विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा, इन आसान उपायों से होंगे चमत्कार

maa saraswati

basant panchami 2018 date when is vasant panchami or sarswati puja in india all you need to know

माघ शुक्ल की पंचमी तिथि को विद्या और बुद्धि की देवी मां सरस्वती की आराधना का खास दिन माना जाता हैं। मां सरस्वती की उपासना के पर्व के रुप में वसंत पंचमी मनाया जाता है। इस समय को अबूझ मुहूर्त भी कहा जाता हैं। इस दिन मां सरस्वती की पूजन अति शुभकारी माना गया है।
वसंत पंचमी 22 जनवरी 2018 को देशभर में पूरी श्रद्धा और आस्था के साथ मनाया जा रहा है। वहीं बीते साल यह त्योहार 1 फरवरी 2017 को मनाया गया था।



मान्यताओं के अनुसार इसी दिन मां सरस्वती ने जन्म लिया था। इस दिन धूम-धाम से माता का जन्मोत्सव मनाया जाता है।

कलम की पूजा vasant panchami puja vidhi

देवी सरस्वती को ज्ञान, कला, बुद्धि, गायन-वादन की अधिष्ठात्री देवी माना गया है। इसलिए विद्यार्थी, लेखक, कलाकार मां की इस दिन विशेष पूजा करते हैं।

वसंत से जुड़ी खास बातें…

हिंदू पंचांग में 6 ऋतुएं हैं, इनमें से वसंत ऋतुओं का राजा कहा जाता है। वसंत का आगमन पतझड़ के बाद होता है। वसंत ऋतु का आगमन नई फसल के उगने और फूलों के खिलने का त्योहार भी कहा जाता है। इस खुशी में देशभर में उत्सव मनाया जाता है। वसंत पंचमी के बाद ठंड कम हो जाती है और दिन बड़े होने लगते हैं।

बसंत पंचमी पर रखें ये इनमें से 1 चीज देखें चमत्कार vasant panchami ke upay basant panchami 2018 pujan vidhi of maa saraswati 

वीणा- मां सरस्वती की प्रिय वस्तु वीणा घर या दुकान पर रखने से बरकत आती हैं।
हंस की तस्वीर या शो-पीस- हंस की तस्वीर या हंस नुमा शो पीस घर पर रखने से मां प्रसन्न होती हैं।



मोर पंख- मोर पंख घर के मंदिर या बच्चों के कमरे में रखना शुभ होता हैं।
कमल का फूल- मां सरस्वती को कमल का फूल बेहद पसंद हैं, उनकी पूजा के समय यह जरुर रखना चाहिए।
सरस्वती मां की मूर्ति या तस्वीर- मां सरस्वती को विद्या की देवी कहा गया है, उनकी रोज पूजा करने से सफलता मिलती हैं।

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!