छग के खमतराई में अनोखा है देवी मां का मंदिर, यहां पांच पत्थर चढ़ाते ही होती है मनोकामना पूरी

navratri 2017 kalash sthapana during navratri give happiness prosperity power news in hindi

(manokamna purti karne wali devi maa ka mandir)
बिलासपुर. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के समीप खमतराई में देवी मां का एक अनोखा मंदिर हैं। खमतराई बगदाई मंदिर में वन देवी को पांच पत्थर चढ़ाने की अनोखी प्रथा यहां सदियों से चली आ रही हैं। इस मंदिर में भक्त माला, पूजन सामग्री लेकर नहीं, बल्कि यहां पांच पत्थर रखकर मां को प्रसन्न करते है और मां से अपनी मनोकामना कहते हैं। यहां मान्यता हैं कि मां वन देवी के मंदिर में सच्चे मन से पांच पत्थर चढ़ाने वाले श्रद्धालुओं की मनोकामना जरुर पूर्ण होती हैं। मंदिर की अनोखी परंपरा के बारे में जानकर दर्शन करने और मनोकामना मांगने केे लिए दूर-दूर से श्रद्धालु आते हैं।



पुजारी अश्वनी कुमार तिवारी बताते हैं कि मंदिर में पत्थर चढ़ाने की परंपरा कितनी पुरानी है यह नहीं बता सकते हैं, हमारे बाप-दादा के समय से यह प्रथा हम देख रहे हैं, यहां लोग दूर-दूर से पत्थर चढ़ाने आते हैं, श्रद्धालुओं की अपनी-अपनी आस्था है।

सच्ची धार्मिक कहानियां पढऩे के लिए फेसबुक पेज लाइक करें-  https://www.facebook.com/DharmKathayen/

चढ़ाते हैं चकमक के पांच पत्थर (mandir me mandir me mannat puri hoti hai)

मां वन देवी को पांच चकमक पत्थर चढ़ाए जाते हैं। इस चकमक पत्थर को छत्तीसगढ़ी में चमरगोटा कहा जाता है और ये नदी में, रेत में मिलता है। इस मंदिर में पांच पत्थर चढ़ाने की प्रथा सदियों पुरानी है। इसी के चलते यहां स्थापित वन देवी की प्रतिमा चारों ओर से पत्थरों से घिरी दिखाई देती है, जबकि इन पत्थरों को बीच-बीच में हटाया भी जाता है, अन्यथा पूरी प्रतिमा पत्थरों से ढक जाएगी।



यहां के पुजारी कहते हैं, कि उन्हें या उनके पूर्वजों को भी नहीं पता कि देवी की प्रतिमा पर पत्थर चढ़ाना क्यों और कैसे शुरू हुआ। ये मंदिर अभी जिस जगह पर है, सालों पहले वहां से जंगल शुरू हुआ करता था, लिहाजा माना जा रहा है कि वन देवी की यह पूजा दो-तीन सौ साल पुरानी परंपरा होगी।

कभी नहीं आई पत्थर की कमी (mata ka chamatkar)

सालों से पत्थर चढ़ाने के दौरान मंदिर में बेहद अजीब बात भी सामने आई है। यहां आसपास के क्षेत्र में नदी नहीं होने के बाद भी चकमक के पत्थरों की कोई कमी नहीं आर्ई हैं। हर भक्त पांच पत्थर चढ़ाता है फिर भी पत्थर कभी बहुत मेहनत से खोजने नहीं पड़े।

यह भी पढ़ें:-सूर्य देव छूते हैं मां के पैर, श्री महामाया देवी के दर्शन मात्र से पूरी होती है मनोकामना!

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top
error: Content is protected !!