आज का राशिफल, जानिए क्या कहते हैं आपके सितारे

rashifal

 

वैदिक ज्योतिष की रहस्यमयी दुनिया में हम आपकों रूबरू कराने जा रहे है 12 राशियों के भविष्यफल से। भविष्य और वर्तमान के बारे में आपको बताएंगे जिंदगी संवारने के तरीके। आइए जानते हैं सिलसिलेवार तरीके से सभी राशियों के बारे में क्या कहती हैं ग्रहों की चाल-
आज का राशिफल

राशि फलादेश मेष
वाहन व मशीनरी के प्रयोग में सावधानी रखें। विवाद व जोखिम उठाने से बचें। दूसरों पर भरोसा न करें।

राशि फलादेश वृष
कानूनी अड़चन दूर होगी। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। जल्दबाजी न करें।

राशि फलादेश मिथुन
संपत्ति के कार्य लाभ देंगे। रोजगार मिलेगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी।

राशि फलादेश कर्क
स्वादिष्ट भोजन का आनंद मिलेगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। विवाद से बचें। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ होगा।

राशि फलादेश सिंह
बुरी खबर से तनाव होगा। विवाद को बढ़ावा न दें। व्यर्थ परिश्रम होगा। चिंता रहेगी। जोखिम न उठाएं।

राशि फलादेश कन्या
प्रतिष्ठा बढ़ेगी। कार्यसिद्धि होगी। नौकरी में अधिकार बढ़ेंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। लाभ होगा।

राशि फलादेश तुला
बुद्धि का प्रयोग लाभ में वृद्धि करेगा। उत्साहवर्द्धक सूचना मिलेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। लाभ होगा।

राशि फलादेश वृश्चिक
दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। रोजगार प्राप्ति होगी। अचानक लाभ हो सकता है। यात्रा सफल रहेगी।

राशि फलादेश धनु
अपेक्षाकृत कार्य न होने से तनाव रहेगा। फालतू खर्च होगा। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। विवाद न करें।

राशि फलादेश मकर
परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता मिलेगी। रुका हुआ धन मिलेगा। नौकरी में उन्नति संभव है।

राशि फलादेश कुंभ
योजना फलीभूत होगी। कार्यस्‍थल पर परिवर्तन संभव है। प्रतिष्ठा बढ़ेगी। कुछ अशांति रहेगी।

राशि फलादेश मीन
तं‍त्र-मंत्र में रुचि रहेगी। दुष्टजनों से बचें। कोर्ट व कचहरी में अनुकूलता रहेगी। धनलाभ होगा।

आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो ।

mp mandsaur kisan andolan troubles will increase of bjp and cm shivraj govt

आज का पंचांग
कलियुगाब्द……………..5119
विक्रम संवत्……………2074
शक संवत्………………1939
मास…………………….आषाढ़
पक्ष………………………शुक्ल
तिथी………………….त्रयोदशी
दुसरे दिन प्रातः 05.14 पर्यंत पश्चात चतुर्दशी
रवि…………………दक्षिणायन
सूर्योदय……….05.47.23 पर
सूर्यास्त……….07.16.37 पर
तिथि स्वामी……………..काम
नित्यदेवी…………नित्यक्लिना
नक्षत्र…………………..अनुराधा
प्रातः 08.24 पर्यंत पश्चात ज्येष्ठा
योग………………………..शुभ
प्रातः 08.07 पर्यंत पश्चात शुक्ल
करण…………………….कौलव
दोप 04.03 पर्यंत पश्चात तैतिल
ऋतु………………………..वर्षा
दिन……………………..गुरुवार

आंग्ल मतानुसार
06 जुलाई सन 2017 ईस्वी ।
राहुकाल
दोपहर 02.11 से 03.51 तक ।

दिशाशूल
दक्षिणदिशा –
यदि आवश्यक हो तो दही या जीरा का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें।

शुभ अंक………………6
शुभ रंग…………….पीला

चौघडिया
प्रात: 05.51 से 07.31 तक शुभ
प्रात: 10.51 से 12.31 तक चंचल
दोप. 12.31 से 02.11 तक लाभ
दोप. 02.11 से 03.51 तक अमृत
सायं 05.31 से 07.11 तक शुभ
सायं 07.11 से 08.31 तक अमृत
रात्रि 08.31 से 09.51 तक चंचल |

आज का मंत्र
।। ॐ सद्गुरुदेवाय नम: ।।

सुभाषितम्
अष्टावक्र गीता – सप्तदश अध्याय
न जातु विषयाः केऽपि
स्वारामं हर्षयन्त्यमी।
सल्लकीपल्लवप्रीत-
मिवेभं निंबपल्लवाः॥१७- ३॥
अर्थात :-
अपनी आत्मा में रमण करने वाला किसी विषय को प्राप्त करके हर्षित नहीं होता जैसे कि सलाई के पत्तों से प्रेम करने वाला हाथी नीम के पत्तों को पाकर हर्ष नहीं करता है॥३॥

आरोग्यं
1. खराश या सूखी खाँसी के लिये अदरक और गुड़ –
गले में खराश या सूखी खाँसी होने पर पिसी हुई अदरक में गुड़ और घी मिलाकर खाएँ। गुड़ और घी के स्थान पर शहद का प्रयोग भी किया जा सकता है। आराम मिलेगा।

2. दमे के लिये तुलसी और वासा –
दमे के रोगियों को तुलसी की १० पत्तियों के साथ वासा (अडूसा या वासक) का २५० मिलीलीटर पानी में उबालकर काढ़ा बनाकर दें। लगभग २१ दिनों तक सुबह यह काढ़ा पीने से आराम आ जाता है।

3. अरुचि के लिये मुनक्का हरड़ और चीनी –
भूख न लगती हो तो बराबर मात्रा में मुनक्का (बीज निकाल दें), हरड़ और चीनी को पीसकर चटनी बना लें। इसे पाँच छह ग्राम की मात्रा में (एक छोटा चम्मच), थोड़ा शहद मिला कर खाने से पहले दिन में दो बार चाटें।

4. मौसमी खाँसी के लिये सेंधा नमक –
सेंधे नमक की लगभग एक सौ ग्राम डली को चिमटे से पकड़कर आग पर, गैस पर या तवे पर अच्छी तरह गर्म कर लें। जब लाल होने लगे तब गर्म डली को तुरंत आधा कप पानी में डुबोकर निकाल लें और नमकीन गर्म पानी को एक ही बार में पी जाएँ। ऐसा नमकीन पानी सोते समय लगातार दो-तीन दिन पीने से खाँसी, विशेषकर बलगमी खाँसी से आराम मिलता है। नमक की डली को सुखाकर रख लें एक ही डली का बार बार प्रयोग किया जा सकता है।

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top
error: Content is protected !!