ईसा मसीह ने इसलिए कहा था, हे ईश्वर इन्हें माफ कर देना!

दिल्ली. ईसा मसीह का नाम जहन में आते ही उन्हें सूली पर चढ़ाने का किस्सा हर किसी के जहन में आ जाता है। गुड फ्राइडे के दिन उन्हें सुली पर चढ़ाया गया था और उसी वक्त उन्होंने प्राण त्यागे थे। इस घटना से जुड़ी कई खास बातें आज हमारे बीच हैं।
ऐसा है गुड फ्राइडे का महत्व

isa masih

होली फ्राइडे, ग्रेट फ्राइडे को गुड फ्राइडे भी कहा जाता है। कई लोग इस दिन को ब्लैक फ्राइडे भी कहते हैं। लोग इस दिन को ईसा मसीह के बलिदान के दिन के रूप में भी याद करते हैं। कई लोग उपवास करके भी इस दिन को मनाते हैं। लोग गुड फ्राइडे के दिन प्रभु ईसा मसीह की शिक्षाओं को याद करते हैं।
सूल पर लटककर यह कहा था प्रभु ईसा ने

isa masih

प्रभु ईसा को सूली पर लटकाए जाने के बाद और मृत्यु से पहले वे कुछ बोले थे। उन्होंने कहा था, हे ईश्वर इन्हें माफ कर देना, क्योंकि ये नहीं
जानते कि ये क्या कर रहे हैं। बताया जाता है कि जब ईसा मसीह प्राण त्याग रहे थे, तब उन्होंने तेज आवाज में ईश्वर को पुकारा और कहा, हे पिता। मैं, अपनी आत्मा को आपके हाथों में सौंपता हंू। नाराज थे कुछ लोग ईसा मसीह को सूली पर चढ़ाने के बारे में कई किस्से कहे जाते हैं। उनके चमत्कार के सच्चे किस्से उस दौर में जन-जन तक पहुंच चुके थे, इसी बात से कुछ लोग नाराज थे। उन लोगों ने मिलकर प्रभु ईशु को यरुशलम के पहाड़ पर सूली पर चढ़ा दिया गया। इससे पहले प्रभु ईशु को कोड़ों से मारा गया था। बताया जाता है कि उनके सिर पर कांटों का ताज भी सजाया गया था। फिर हाथों में कील ठाके गए और रुह कंपा देने वाला दर्द देकर प्रभु ईशु को मौत दी गई।

whatsapp पर रोज एक सच्ची धार्मिक कहानी पढऩे के लिए हमारे नंबर 8224954801 को dharma kathayen के नाम से सेव करें। इसके बाद हमारे नंबर पर start लिखकर whatsapp कर दें…

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!